दिमाग की सर्जरी के दौरान मरीज ने बजाया वायलिन

दिमाग की सर्जरी के दौरान मरीज ने बजाया वायलिन

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

दक्षिणापथ, दुर्ग । शनिवार 12 अगस्त की रात उरला निवासी खुशबू किन्नर के ऊपर शंकर बुंदे उर्फ काजल के द्वारा प्राणघातक हमला किया गया था, किंतु हमला के बाद से अभी तक आरोपी का पकड़ा नही जाना जिससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर कई सवाल उठ रहे हैं। अभी तक काजल किन्नर पर धारा 307 के तहत ना तो अपराध पंजीबद्ध किया गया है ना ही उसकी गिरफ्तारी हो पाई है। जिसकी शिकायत कंचन सेंद्रे द्वारा पुलिस अधीक्षक एवं संबंधित थाना प्रभारी से की गई है। कंचन सेंद्रे ने पुलिस प्रशासन से ज्ञापन देकर आग्रह किया है कि शंकर बुंदे उर्फ काजल को तत्काल गिरफ्तार किया जाए और उसके ऊपर धारा 307 का अपराध पंजीबद्ध कर उसे तत्काल जेल भेजने के लिए आग्रह किया है।

उन्होंने बताया की काजल किन्नर पूर्व में छाया किन्नर का भी गला रेतकर हत्या कर उसे बोरे में बांधकर फेंका गया था जिसके कारण उसे जेल भी भेजा गया था। 12 अगस्त को जेल से रिहा होने के बाद शंकर बूंदे उर्फ काजल किन्नर ने दोबारा खुशबू किन्नर के घर में जाकर रात 12:00 बजे उसके ऊपर प्राणघातक हमला किया। जिसकी शिकायत एवं जानकारी थाना मोहन नगर को दी गई थी, लेकिन अभी तक काजल किन्नर की गिरफ्तारी नहीं हुई है । कंचन सेंद्रे ने पुलिस विभाग के उच्च अधिकारियों से आग्रह किया है कि ऐसे अपराधी किस्म के किन्नरों पर तत्काल कार्यवाही करते हुए उन्हें जेल भेजने की कार्यवाही किया जाय।