कोरोनावायरस: मृतकों की संख्या 1665 हुई, जापान में जहाज पर 355 लोग संक्रमित

चीन में घातक कोरोनावायरस संक्रमण के कारण और 142 लोगों की मौत होने के साथ ही इससे मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1,665 हो गई है। फिल्हाल इससे संक्रमित होने के कुल 68,500 मामलों की पुष्टि हुई है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने देश में 2,009 नए मामलों की पुष्टि की है। हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान में 1,843 नए मामले हैं। नए मामलों के साथ ही हुबेई में इसके कुल 56,249 मामलों की पुष्टि हो गई है।चीन की सरकारी समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ की खबर के अनुसार शनिवार को जिन 142 लोगों की मौत हुई उनमें से 139 हुबेई में जबकि सिचुआन में दो और हुनान में एक व्यक्ति की मौत हुई है। चीन के एक शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि नए मामलों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है। खबर के अनुसार अभी तक कुल 9,419 संक्रमित मरीजों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है।

कोरोनावायरस का स्वास्थ्य कर्मियों पर भी काफी गंभीर असर पड़ रहा है अभी तक 1,700 से अधिक चीनी स्वास्थ्य अधिकारी इसकी चपेट में आ चुके हैं। स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि डब्लूएचओ के विशेषज्ञ एक संयुक्त मिशन के साथ महामारी नियंत्रण की प्रभावकारिता जानने के लिए चीन के तीन प्रांतों का दौरा करेंगे।

जापान में जहाज पर संक्रमित लोगों की संख्या 355 हुई

जापान के स्वास्थ्य मंत्री कात्सुनोबू कातो ने रविवार को बताया कि अब तक हमने 1219 व्यक्तियों के परीक्षण किए गए हैं। उनमें से 355 लोगों का परीक्षण सकारात्मक पाया गया है। 73 व्यक्तियों में इस वायरस के लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

चार्टर्ड विमान भेज अमेरिका निकालेगा जहाज पर फंसे अपने नागरिक

अमेरिका ने शनिवार को एक पत्र जारी कर बताया कि वह डायमंड प्रिंसेस जहाज पर फंसे अपने नागरिकों को निकालने के लिए विमान भेजेगा। यह विमान रविवार को उन्हें जापान से निकाल अमेरिका लाएगा, जहां उन्हें दो हफ्ते के लिए पृथक रखा जाएगा। इस जहाज पर 3700 लोग हैं। जहाज ने समुद्र में ही लंगर डाला हुआ है। यहां 132 भारतीय क्रू सदस्य और आठ यात्री भी मौजूद हैं, जिनमें तीन वायरस की चपेट में हैं। जापान में भारतीय दूतावास ने शनिवार को बताया कि इनकी हालत में सुधार आया है।

नेपाल ने अपने 175 नागरिकों को किया एयरलिफ्ट 

बीजिंग में नेपाल के दूतावास ने जानकारी दी है कि नेपाल एयरलाइंस के चार्टर विमान द्वारा वुहान (चीन) से 175 नेपाली नागरिकों को एयरलिफ्ट किया गया है। चार ने चीन में वापस रहने का फैसला किया, जबकि छह चिकित्सा कारणों से विमान में नहीं चढ़ सके।

आधे मरीजों का इलाज पारंपरिक दवाओं से

हुबेई के स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार संक्रमण के बाद करीब आधे लोगों का पारंपरिक चिकित्सा प्रणाली से इलाज हुआ है। सरकार ने संक्रमण रोकने के लिए पारंपरिक दवाओं और पाश्चात्य दवाओं का साझा उपयोग किया है। अब तक इस वायरस का इलाज नहीं खोजा जा सका है।

संक्रमण से बचने अपने ही घर में दौड़ा 66 किमी

घरों में कैद लोग वायरस से बचने के लिए अजीबोगरीब तरीके अपना रहे हैं। हांगकांग में पान सांकू नामक व्यक्ति अपने ही घर ही में पौने सात घंटे में 66 किमी दौड़ा। इसमें से 30 किमी तो वह केवल अपने बाथरूम में दौड़ गया। 44 साल के सांकू ने मोबाइल एप के जरिए अपनी दौड़ की गणना की। उसने अपना लाइव वीडियो स्ट्रीम किया है।

फ्रांस में चीनी नागरिक की मौत

मुद्रा के जरिए संक्रमण न फैले इसलिए गोदामों में भरा

चीन में संक्रमण वाले स्थानों से मुद्रा जमा कर गोदामों में भरी जा रही है। चीन की सरकार को आशंका है कि इनके जरिए भी संक्रमण फैल सकता है। अधिकारियों के अनुसार यहां हाल में 4 हजार करोड़ युआन के करेंसी नोट उतारे गए थे। लोगों को बार-बार हाथ धोने और हाथों को मुंह, नाक व आंखों पर न लगाने की चेतावनी विशेषज्ञ दे रहे हैं।

फ्रांस में चीनी नागरिक की मौत

फ्रांस में घूम रहे एक  बुजुर्गचीनी नागरिक की कोरोनावायरस से मौत हो गई। यूरोप में इस वायरस से यह पहली मौत है। यहां कुल 11 मामले सामने आए हैं। इससे पहले मिस्र में एक व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। अफ्रीका महाद्वीप में किसी व्यक्ति में यह वायरस मिलने का पहला मामला है।

एबटाबाद में संदिग्ध मिला

पाकिस्तान : एबटाबाद में संदिग्ध मिला

चीन से लौटे एक व्यक्ति को कोरोनावायरस का संदिग्ध मान चिकित्सकों ने अस्पताल में भर्ती किया है। वह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के गिलगित-बालस्टितान का रहने वाला है। पड़ोसी देश में अब तक किसी मामले की पुष्टि नहीं हुई है, हालांकि उसके कई नागरिक चीन में फंसे हैं।

हांगकांग : चीन से आजादी के नारे लगे

सैकड़ों सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को हांगकांग में मार्च आयोजित कर चीन की मुख्यभूमि का हांगकांग से संपर्क पूरी तरह बंद करने की मांग की। सरकार ने यहां कई इमारतों को कोरोनावायरस क्वारंटीन जोन में बदला है, प्रदर्शनकारी इसका भी विरोध कर रहे हैं। प्रदर्शन में हांगकांग की स्वतंत्रता और क्रांति के खूब नारे लगाए गए।

इधर भारत में हालात : शनिवार तक छोड़े जा सकते हैं चीन से लौटे 406 नागरिक

भारत में आईटीबी कैंप में रखे 406 नागरिकों को अगले हफ्ते छोड़ा जा सकता है। इनमें सात मालदीव के नागरिक भी शामिल हैं। यह नागरिक चीन लाए गए थे। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को लिए गए आखिरी सैंपल की जांच रिपोर्ट नैगेटिव आने के बाद इस पर निर्णय होगा। चीन से लाए गए 650 नागरिकों में से कुछ हरियाणा के मानेसर में बनाए गए सेना के कैंप में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!