वृद्धाश्रम में मनाया गया मातृ पितृ पूजन दिवस

राजनांदगांव। स्वामी विवेकानंद युवा जागृति मंच द्वारा विधि-विधान से मंत्रोपचार के साथ 14 फरवरी दिन शुक्रवार को वृद्धाश्रम में मातृ पितृ पूजन दिवस मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि गौतम पारख समाजसेवी व संचालक समता वृद्धाश्रम, अध्यक्षता गोपाल राव, सहायक संचालक उद्योग विभाग राजनांदगांव, विशिष्ट अतिथि एसके देवांगन, संचालक प्राईड एकेडमी राजनांदगांव उपस्थित रहें। सर्वप्रथम स्वामी विवेकानंद जी के तैल चित्र पर दीप प्रज्जवलित व माल्यार्पित करके कार्यक्रम की विधिवत शुरूआत की गई। तत्पश्चात पूजन का कार्यक्रम संपन्न हुआ जिसमें युवा जागृति मंच के युवाओं ने बुर्जुगों की आरती पूजन कर मुंह मीठा कराकर आशीर्वाद लिये। युवाओं का प्यार देख वृद्धाश्रम में रह रहें बुर्जुगों को अपने परिवार की याद आ गई, युवाओं का सेवा भाव देख बुर्जुगों की आंखे डबडबा गई। मंच की युवाओं ने आश्रम में रह रहें बुर्जुगों के साथ अपना समय बिताया एवं उनका हालचाल जाना। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के आसंदी से श्री पारख ने अपने व्यक्तत्व में युवाओं को राष्ट्र निर्माण में बढ़ चढ़कर आगे बढ़ने तथा सनातन संस्कृति को जीवंत रखने एवं मांस मंदिरा का सेवन न करने का संदेश दिया तथा जीवन में युवा कही भी रहे किसी भी क्षेत्र में अपनी सेवा देते हुए समाज, राष्ट्र व संस्कृति का आदर्श व सम्मान करें तथा परिवार के साथ वक्त बिताये एवं लोगों में इसके प्रति भी जागरूकता लाये। भारतीय संस्कृति के मूल्य में माता-पिता को भगवान का दर्जा दिया गया है। श्री पारख ने मंच के सदस्यों के इस कार्य में सराहना करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति को जीवित रखने का प्रयास युवा जागृति मंच के युवा कर रहें है इसके लिये बधाई के पात्र है। कार्यक्रम के अध्यक्ष गोपाल राव ने अपने व्यक्तत्व में कहा कि युवा वर्ग अपनी पढ़ाई-लिखाई करके विभिन्न क्षेत्रों में अपनी सेवायें देंगे परन्तु इसके साथ ही अपने साथ और भी युवाओं को प्रेरित करने एवं सहयोग करने का कार्य करे तथा समाज में एक संस्कारित वतावरण तैयार करे। मंच के सदस्यों ने इस वृद्धाश्रम में रह रहे बुर्जुगों को मातृ पितृ तुल्य मानकर जो सम्मान किया वास्तविक में एक परिवार को जीवित कर दिया मैं इसके लिये संस्था के सभी सदस्यों को साधुवाद देता हुं व इस कार्य की सराहना करता हुं व इतना नेक कार्य के लिये मुझे आमंत्रित किया। युवा जागृति मंच के जिलाध्यक्ष जीवन साहू ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए अपने उदबोधन में बताया कि जिस तरह भगवान गणेश जी ने अपने माता पिता के आशीर्वाद से प्रथम पूज्य बन गये आज भी युवा पाश्चात्य संस्कृति के चकाचौंध में परिवार को छोड़कर अपने दायित्वों को भूल रहें है। आप सभी अपने माता-पिता का आशीर्वाद प्राप्त करते रहें तथा सच्ची सेवा प्यार व दुलार पाते रहे। श्री साहू ने आगे बताया कि मंच के युवाओं द्वारा विगत 7 वर्षो से अलग-अलग जगहों पर मातृ पितृ पूजन का कार्यक्रम करते आये है। इस कार्यक्रम के माध्यम से पाश्चात्य सभ्यता जो इस देश के युवक-युवतियों को तबाही के रास्ते में ले जा रही है इसको खत्म करके मातृ देवो भवः पितृ देवो भवः के ज्ञान का सृजन करना है। कार्यक्रम का संचालन संस्था के शहर सचिव घमेन्द्र साहू द्वारा किया गया।
इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये मंच के शिव साहू, पुष्पेन्द्र साहू, करण साहू, आकाश सोनी, रेखलाल श्रीवास, पुरषोत्तम पटेल, ममता साहू, ललित श्रीवास, राम साहू, लीलाधर रावटे, कमलेश पटेल, आदित्य पराते, मेहुल जाटव, अरूण मानिकपुरी, शेखर साहू, लोकेश यादव, अजय गिरिपूंजे, आयुष वर्मा, राहुल केमे, ललित सोनी, निकेश, विजय मानके, अजय कुमार, डिम्पल मैडम, अर्जुन व अधिक संख्या में युवा साथी उपस्थित रहें। यह जानकारी मिडिया प्रभारी शिव कुमार साहू ने दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!