अरविंद केजरीवाल के मुरीद हुए पूर्व सीएम रमन सिंह, कहा- जानबूझकर हार गई कांग्रेस!

रायपुर. विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में दिल्ली (Delhi) आप की जीत क्या हुई विपक्षी पार्टियों के दिग्गज भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) और आप पार्टी के मुरीद हो गए हैं. बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह केजरीवाल के काम के कायल हो गए. डॉ. रमन सिंह (Dr. Raman Singh) ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई तो दी वहीं आप के काम की तारीफ भी की. डॉ. रमन सिंह ने कहा कि दिल्ली की जनता ने सरकार के खासतौर पर उन योजनाओं फ्री में बिजली पानी और रेलवे के टिकिट को प्राथमिकता दी है और केजरीवाल आगे रहे. हालांकि डॉ रमन सिंह ने इस चुनाव में कांग्रेस की हार को जानबूझकर हारना बताया है. डॉ. रमन सिंह का कहना है कि कांग्रेस जानबूझकर हारने की तैयारी में थी, क्योंकि कांग्रेस (Congress) का एक ही लक्ष्य है कि बीजेपी (BJP) को कैसे हराया जाए.

विपक्ष पर साधा निशाना

डॉ.रमन सिंह का कहना है कि इस चुनाव में सबसे महत्वपूर्ण यह है कि कांग्रेस ने पूरी तरह से इस चुनाव में खुद को आत्म समर्पण की भूमिका में रखा है. एक प्रकार से पूरे सर्मपण भाव से अपने पार्टी का अस्तित्व खत्म करके इस चुनाव में तटस्थ भूमिका निभाई है. कांग्रेस जीरो में है, लेकिन दिल्ली की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को भी चुना है. डॉ. रमन सिंह का यह भी कहना है कि कांग्रेस की पूरे हिंदुस्तान में यह भूमिका हो गई है कि भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए उनकी क्या भूमिका रह सकती है, उस भूमिका को बाखूबी निभा रहे हैं. डॉ रमन सिंह की मानें तो कांग्रेस अपना अस्तित्व धीरे-धीरे पूरे देश की राजनीति में क्षेत्रीय दल की भूमिका में ला रही है. बल्कि जहां भी इस तरह के चुनाव होते हैं वहां उनका एक ही लक्ष्य होता है कि बीजेपी को कैसे हराए, चाहे इसके लिए उनका अस्तित्व ही समाप्त क्यों ना हो जाएं.

बीजेपी का बढ़ा वोट प्रतिशत: रमन सिंह

हालांकि, डॉ. रमन सिंह ने बीजेपी की हार पर कहा कि मुझे लगता है कि बीजेपी को राष्ट्रीय स्तर पर लोकसभा में बढ़त मिली, वोट प्रतिशत भी बढ़ा है. लेकिन क्षेत्रीय चुनाव में जिस तरह के मुद्दों को मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल ने लाया, उसका असर जनता में पड़ा है. यह और बात है कि डॉ. रमन सिंह यह भी कहते है कि जिस तरह से दिल्ली में बीजेपी को सीटें मिली है लगभग 40 प्रतिशत वोट दिल्ली की जनता ने दिया है, यह भी देखना चाहिए. हालांकि वह यह भी कहते हैं कि तीन से इतनी सीटों पर आना कोई बड़ी उपलब्धि नहीं है.

इसलिए मान रहे आम आदमी पार्टी का काम

दिल्ली चुनाव के नतीजे आने तक छत्तीसगढ़ में भी बीजेपी के तमाम दिग्गज ऑन रिकॉर्ड इस बात को लेकर दावा जरूर कर रहे थे कि बीजेपी की ही वहां पर जीत होगी. लेकिन कहीं न कहीं वहां के नतीजों की हकीकत पार्टी पहले ही भांप चुकी थी. यही वजह है कि जो बीजेपी चुनाव के बाद एक्जिट पोल आने पर ऑफ रिकॉर्ड यह मान रही थी कि अरविंद केजरीवाल ने शिक्षा और स्वास्थ्य में जो काम किया इसका असर एक्जिट पोल में दिख रहा है. नतीजे आने के बाद बीजेपी के दिग्गज ऑन रिकॉर्ड भी आप के काम को खुलकर स्वीकार कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!