लायंस क्लब दुर्ग आस्था ने किया महिला सफ़ाई कर्मी का सम्मान, कराया भोजन ….

लायंस क्लब दुर्ग आस्था ने किया महिला सफ़ाई कर्मी का सम्मान, कराया भोजन ….


Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86

नई दिल्ली । पीएम नरेंद्र मोदी ने भाजपा संसदीय बोर्ड की मीटिंग में परिवारवाद को लेकर एक बार फिर से हमला बोला है। उन्होंने कहा कि परिवारवाद लोकतंत्र का दुश्मन है और इसे भाजपा में स्वीकार नहीं किया जा सकता। बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने यूपी समेत 5 राज्यों के चुनाव में पार्टी नेताओं के परिवार के लोगों को टिकट न मिलने की भी टिप्पणी की। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यदि पार्टी की ओर से किसी की भी उम्मीदवारी को खारिज किया गया है तो उसके लिए मैं जिम्मेदार हूं। उन्होंने कहा कि परिवारवाद की राजनीतिक लोकतंत्र की दुश्मन है। इस मीटिंग में होम मिनिस्टर अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, पीयूष गोयल समेत तमाम दिग्गज नेता भी मौजूद थे। इस मीटिंग की शुरुआत में पीएम नरेंद्र मोदी और पार्टी चीफ जेपी नड्डा को 4 राज्यों में जीत पर सम्मानित किया गया और फिर पीएम नरेंद्र मोदी ने मीटिंग को संबोधित किया। उत्तर प्रदेश में कई भाजपा नेता अपने परिवार के सदस्यों के लिए टिकट मांग रहे थे, लेकिन लीडरशिप ने कई लोगों की मांग को खारिज कर दिया था। यहां तक कि सांसद रीता बहुगुणा जोशी अपने बेटे मयंक के लिए लखनऊ से टिकट मांग रही थीं, लेकिन उन्हें मौका नहीं दिया गया। इस पर रीता बहुगुणा जोशी ने नाराजगी भी जाहिर की थी और उनके बेटे ने सपा का दामन थाम लिया था। उनके अलावा कई और नेता भी अपने परिजनों को टिकट देने के लिए लॉबिंग कर रहे थे, लेकिन उन्हें भी निराशा ही हाथ लगी। गोवा में भी भाजपा ने पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर को टिकट नहीं दिया था। वह पणजी सीट से टिकट मांग रहे थे, लेकिन भाजपा ने इससे इनकार किया था। इस पर पर्रिकर इसी सीट से निर्दलीय ही उतर गए थे। हालांकि उन्हें चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा है।