सामाजिक न्याय के संबंध में विधिक सेवा प्राधिकरण की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण

सामाजिक न्याय के संबंध में विधिक सेवा प्राधिकरण की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89

बोलीं- मम्मी को टॉर्चर करते थे पापा-बाबा उत्तर प्रदेश के बांदा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेत्री और जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह गौर की मौत मामले में पूर्व DIG रामबहादुर सिंह, पति सहित 4 लोगों के खिलाफ दहेज और हत्या का मामला दर्ज हुआ है. वहीं श्वेता सिंह की बेटियों ने रो रोकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है. बेटियों ने बताया, 'बाबा के साथ पापा, मम्मी को बहुत टॉर्चर करते थे, गालियां देते थे और मेरी मम्मी को मार डाला. हम सीएम योगी और पीएम मोदी से न्याय की मांग कर रहे हैं.' हालांकि अभी 24 घंटे बाद भी पुलिस किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. सभी आरोपी फरार हैं. मामला बांदा शहर के पॉश इलाक़े इंदिरा नगर का है. क्या था मामला श्वेता सिंह गौर ने पंखे से लटककर ख़ुदकुशी कर ली. घटना के पीछे पति-पत्नी के बीच विवाद और आपसी मनमुटाव को वजह बताया जा रहा है. घटना के बाद से पति फरार है. फिलहाल घटना की सूचना मिलते ही एसपी मौके पर पहुंचे और पुलिस छानबीन में जुट गयी. पुलिस ने शव को कब्जे में ले पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया था. मौत से बीस घंटे पहले ही भाजपा नेत्री श्वेता सिंह गौर ने फ़ेसबुक पोस्ट के ज़रिए इशारों इशारों में अपने दिमाग़ में चल रही चीजें बयान कर दी थीं, जिसे पढ़कर अब लोग हैरानी जता रहे हैं. बता दें कि भाजपा नेत्री श्वेता सिंह गौर बांदा के जसपुरा क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य है और पूर्व आईपीएस राजबहादुर सिंह की बहू हैं, जिनके आवास पर दोनों बेटे बहू रहते थे. अक्सर सोशल मीडिया में खूब सक्रिय रहने वाली श्वेता ने अपनी मौत की भविष्यवाणी पहले ही फ़ेसबुक पोस्ट के ज़रिए कर दी थी. श्वेता सिंह ने मौत से पहले फेसबुक में एक पोस्ट में भी किया था, जिसमे उन्होंने लिखा था, 'घायल नागिन और शेरनी, अपमानित महिला से डरना चाहिए.' उनके फ़ोन को भी पुलिस ने अपने क़ब्ज़े में ले लिया है. इधर मृतिका श्वेता सिंह की बेटियों ने सीएम योगी से न्याय की मांग की है. उन्होंने कहा कि घर मे मम्मी को बहुत परेशान किया जाता था, पापा और बाबा अपशब्द कहते थे, हम CM से कार्यवाही की मांग करते हैं, अभी तक कोई गिरफ्तार नहीं हुआ है. पुलिस ने क्या कहा सीओ सिटी राकेश कुमार सिंह ने इस मामले में जानकारी देते हुए बताया कि जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह के भाई की तहरीर के आधार पर पूर्व डीआईजी, पति सहित 4 लोगों के खिलाफ 302, 498 A, 3/4 डीपी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. आगे की कार्यवाही की जा रही है.