फुटबॉल प्रतियोगिता में अदानी क्लब व एनईआई ने जीता लीग मैच

फुटबॉल प्रतियोगिता में अदानी क्लब व एनईआई ने जीता लीग मैच

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

दक्षिणापथ। ठंड में अक्सर लोग कम पानी पीने लगते हैं लेकिन ठंड के दिनों में अपने आपको सुफूर्तिभरा रखने के लिए पानी बहुत जरुरी है। हम सभी जानते हैं कि शरीर के लिए पानी बेहद आवश्यक है, हालाँकि पानी हमेशा सीमित मात्रा में होना चाहिए। कई बार लोग पानी बहुत अधिक पी लेते हैं और शरीर में पानी की अधिकता कई तरह की बीमारियों को जन्म दे सकती है। अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं अधिक पानी पीने के नुकसान के बारे में।ज्यादा पानी पीने से ओवरहाइड्रेशन हो सकता है तो सबसे पहले जान लीजिये इसके लक्षणसिर में दर्द होनाथकान महसूस होनाचक्कर आनामतली की समस्याधुंधला नजर आनाहर समय सुस्ती महसूस होनाबेचैनी होनाचिड़चिड़ापन होनामांसपेशियों में कंपनमांसपेशियों में ऐंठनदस्तलार गिरनाहाइपरपीरेक्सिया यानी तेज बुखारएनहाइड्रोसिस यानी पसीना न आनाकेवल यही नहीं बल्कि इसके अलावा, ओवरहाइड्रेशन का उपचार न कराया जाए, तो ये लक्षण हल्के भ्रम से बेहोशी में बोलने, दौरा पडऩा, कोमा या फिर मृत्यु का कारण बन सकता है।ज्यादा पानी पीने के नुकसान- हाइपोनेट्रेमिया का जोखिम- ज्यादा पानी पीने से हाइपोनेट्रेमिया हो सकता है। यह तब होता है जब रक्त में सोडियम की मात्रा असामान्य रूप से कम हो जाती है। ऐसा ओवरहाइड्रेशन यानी अत्यधिक मात्रा में पानी पीने के कारण हो सकता है। सूजन की परेशानी- ज्यादा पानी पीने से सूजन की समस्या भी हो सकती है। जब शरीर में सोडियम का स्तर कम हो जाता है, तो पानी कोशिकाओं में प्रवेश करने लगता है। इस वजह से कोशिकाओं के अंदर पानी की मात्रा अत्यधिक हो जाती है, जिसकी वजह से कोशिकाओं में सूजन आ सकती है।डायरिया की समस्या- पानी ज्यादा पीने से डायरिया जैसी समस्या हो सकती है। जी दरअसल डायरिया वाटर इंटॉक्शिकेशन यानी ओवरहाइड्रेशन के प्रारंभिक लक्षणों में से एक है।