बेमौसम बारिश से शहर हुआ अस्त व्यस्त

बिलासपुर । सुबह से हो रही बेमौसम बारिश ने शहरी जनजीवन को अस्तव्यस्त कर रख दिया है। बंगाल की खाड़ी से उठ रही आद्र हवाएं उत्तर पश्चिम विक्षोभ से मिलकर मौसम परिवर्तन करा रही है। वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण लगभग पूरे उत्तर भारत में मौसम में परिवर्तन देखा जा रहा है। खासकर मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के मध्य और पूर्वी हिस्से में मंगलवार को बारिश का प्रभाव देखा गया। अधिकांश हिस्सों में चमक गरज के साथ हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश हुई है। फरवरी महीने में भी ठंड का प्रभाव बना हुआ है ऐसे में बारिश होने से पारा 3 से 4 डिग्री और लुढक़ गया है ।अधिकांश हिस्सों में तापमान 26 से 14 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया है । ठंड में गर्म कपड़े पहन कर निकलने वाले लोग लोगों को रेनकोट और छातो का भी सहारा लेना पड़ा ।बिलासपुर में सुबह से हो रही बारिश ने जनजीवन पर व्यापक प्रभाव दिखाया है। बाजारे लगभग सुनी है, सडक़ों पर पानी जमा हो गया है। जिन सडक़ों पर अमृत मिशन या और अन्य कारण से खुदाई की है की गई है वहां सडक़ पर कीचड़ फैल चुका है । दिन में कई मर्तबा  बारिश से बचने लोगों ने यहां वहां सहारा लिया। दुकानों के बाहर  और छज्जे के नीचे  लोग बारिश से बचने दुबके नजर आए। इस बारिश को फसलों के लिए भी नुकसानदेह बताया जा रहा है। किसानों को सलाह दी गई है कि वे फिलहाल खेतों में दवा का छिडक़ाव न करें। मौसम के जानकारों का कहना है कि मंगलवार को हुई बारिश के बाद बुधवार और गुरुवार को भी आसमान में बादल छाए रहेंगे , तो वहीं शुक्रवार, शनिवार को वापस बारिश होने की पूरी संभावना है। बंगाल ,उड़ीसा, छत्तीसगढ़, बिहार से लेकर गुजरात और राजस्थान तक बारिश का असर देखा जा रहा है। बिलासपुर में भी सुबह से रुक-रुक कर हो रही बारिश ने लोगों को खासा परेशान किया है। दफ्तर और स्कूल के लिए निकले लोग बारिश से प्रभावित हुए, वहीं दोपहर में बच्चों को भींग कर स्कूल से घर लौटना पड़ा। बाजार से भी रौनक पूरी तरह गायब नजर आई। मामूली बारिश से ही बिलासपुर के कुछ निचले इलाकों में पानी जमा होने की शिकायत आने लगी है। चिकित्सकों का मानना है कि ठंड के इस मौसम में बारिश से वायरस, बैक्टीरिया और मजबूत , शक्तिशाली एवं सक्रिय हो जाते हैं ,जिसके चलते लोगों में बीमार पडऩे की आशंका और गहरा जाती है ।वर्तमान में करोना वायरस को लेकर दुनिया भर में दहशत का माहौल है। इसके मद्दे नजर चिकित्सकों ने एहतियात बरतने की सलाह दी है , वही इस बेमौसम बारिश में भीगने से बचने की बात भी विशेषज्ञ कह रहे हैं। फिलहाल बंगाल की खाड़ी में मौजूद अप दाब और पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव पूरे हफ्ते बना रहेगा,  जिसके चलते सामान्य से लेकर मध्यम दर्जे की बारिश मुमकिन है। बारिश के चलते लोगों को दिन में भी गर्म कपड़े पहन कर चलना पड़ा तो वही लोग अलाव, चाय और पकौड़े का भी सहारा लेते देखे गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!