चोरी के ३ मामलों का खुलासा

बिलासपुर। तोरवा पुलिस को सूचना मिली कि एक संदिग्ध व्यक्ति बुधवारी बाजार में मोबाइल बेचने के लिए ग्राहक ढूंढ रहा है। इस सूचना पर पुलिस की टीम ने तत्काल मौके पर पहुंचकर संदेही को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की, जिससे चोरी के कई पुराने मामलों का खुलासा हो गया। दरअसल 29 जनवरी को तोरवा थाना क्षेत्र के सुमन कुमार कौशल ने तोरवा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए कहा था कि उनके एन ई कॉलोनी के क्वार्टर नंबर 1007 बटा एक गली नंबर 4 में 28 और 29 जनवरी की दरमियानी रात चोरी की घटना हुई थी जिसमें चोर सोने चांदी के जेवर,  45, 700 का महंगा मोबाइल और नगद चोरी कर ले गया था। इसके बाद से पुलिस चोर की तलाश कर रही थी । संदेह के आधार पर पकड़े गए किशन मलिक से चौंकाने वाले खुलासे हुए । शुरू में तो वह पुलिस को गुमराह करता रहा लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने सारे राज उगल दिए
एन ई कॉलोनी मकान नंबर 1004 में रहने वाले किशन मलिक ने हीं करीब 1, 10000 के कुल चोरी को अंजाम दिया था । इतना ही नहीं पिछले दिनों 22 दिसंबर को बुधवारी बाजार के वाधूमल रेडीमेड स्टोर में भी जो चोरी हुई थी उसमें भी इसी का हाथ था। पकड़े गए किशन मलिक ने बताया कि उसने पिछले कुछ महीनों में कई चोरी की घटना को अंजाम दिया है ।उसने अलग-अलग स्थानों से तीन मोबाइल की भी चोरी की थी ।तलाशी में पुलिस को उसके पास से सोने चांदी के जेवर, 3 मोबाइल, नगद रकम मिली है, जिसकी अनुमानित कीमत 1 लाख 10,000 रु बताई जा रही है। संदिग्ध के पकड़े जाने के बाद तीन चोरी के मामलों का खुलासा हुआ है। शातिर चोर किशन मलिक को गिरफ्तार करने में तोरवा थाना प्रभारी शनिप रात्रे के अलावा उप निरीक्षक डीके पाटले, हेमंत आदित्य, धनेश साहू, विष्णु साहू, कपिल साहू, सरफराज खान, तरुण केशरवानी, देवेंद्र दुबे, रमेश आदिले की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!