कबीरधाम जिला अस्पताल के सभी वार्डों में होगी पाईप लाईन से आॅक्सीजन की सप्लाई

कवर्धा । कबीरधाम जिले में संचालित सौ बिस्तरीय जिला अस्पताल को मरीजों के विशेष सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए नए सिरे से अत्याधुनिक सुविधाओं का शीघ्र विस्तार किया जाएगा। राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग के अधिनस्थ छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विस कार्पोरेशन द्वारा कवर्धा के सौ बिस्तरीय अस्पताल में सेन्ट्रल आॅक्सीजन सप्लाई यूनिट की स्वीकृति मिल गई है। इसकी स्वीकृति मिलने से जिला अस्पताल के सभी वार्डों में भर्ती मरीजों के लिए सेन्ट्रल आॅक्सीजन सप्लाई के जरिए सीधे बेड पर आक्सीजन उपलब्ध हो सकेगी। इस तरह की नई सुविधाएं शुरू होने से जरूरतमंद मरीजों को उनके बेड तक पाईप लाईन के जरिए आॅक्सीजन मिल सकेगी। वार्डों तक आक्सीजन सिलेण्डर लाने और ले जाने की समस्या का पूर्ण रूप से निदान हो जाएगा। दुर्ग संभाग के अंतर्गत कवर्धा का जिला अस्पताल अपने निकटवर्ती जिले से पहला ऐसा सरकारी अस्पताल होगा जहां मरीजों के लिए सेन्ट्रल आॅक्सीजन सप्लाई के जरिए सीधे बेड पर जरूरत मंद मरीजो को आक्सीजन उपलब्ध होंगे। इस जिला अस्पताल में सुविधाओं को विस्तार करते हुए सभी वार्डों में भर्ती महिला और पुरुष मरीजों की निजता का विशेष ध्यान रखा जाएगा। इसके तहत सभी वार्डों के बेडों को पर्दा से घेरा जाएगा। अस्थमा और अन्य जटिल बीमारियों से पीड़ित मरीजों की सुविधाओं के लिए 50 नग फाउलस बेड की सुविधाएं दी जाएगी। पोषण पुर्नवास और शिशु वार्ड में बच्चों की सुविधाओं के लिए 20 रेलिंग वाला बेड भी लगाए जाएंगे, इससे बच्चों को बेड से गिरने का डर हमेशा के लिए दूर हो सकेगा। जिला अस्पताल में साफ सफाई को विशेष ध्यान में रखते हुए कायाकल्प के तहत विशेष रूप से सुसज्जित किए जाएंगे। इसके तहत अब हर दिन सभी वार्डों के बेडों में अलग-अलग रंगों के चादर बिछाए जाएंगे। सात दिन के सात अलग-अलग चादरों के रंग होंगे। यह भी सभी सुविधाएं जल्द ही आने वाले माह से मरीजों में मिलना शुरू हो जाएगा। अस्थि रोगों से संबंधित मरीजों के लिए जल्द ही सीआर्म मशीन यहां लगने वाली हैं। इस मशीन के आने से हड्डियों से संबंधित सभी प्रकार के आॅपरेशन करने में मदद मिलेगी। राज्य शासन के स्वास्थ्य विभाग द्वारा पिछले एक साल में कवर्धा जिला अस्पताल सहित जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जन सुविधाओं और मरीजों को विशेष सुविधाएं मिले इसके लिए सुविधाओं का लगातार विस्तार किया जा रहा है।  पिछले एक साल के भीतर जिला अस्पताल में चार अलग-अलग विशेष डाक्टरों की भर्ती की गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में 80 एएनएम की भर्ती की गई है। जिले के सभी बोड़ला, पंडरिया, सहसपुर लोहरा, झलमला, कुकदूर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में डॉक्टरों की भर्ती की गई है। इससे शहरी और ग्रमीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार हुआ है। जिला अस्पताल में मरीजों के सुविधाओं के लिए सभी निर्णयों पर अमल शुरू हो गया है।

*निर्णयों पर अमल शुरू*
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के कैबिनेट मंत्री व कवर्धा विधायक मोहम्मद अकबर और प्रभारी मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया की अध्यक्षता में आयोजित जिला खनिज न्यास समिति की बैठक में जन सुविधाओ को विशेष ध्यान में रख कर कबीरधाम जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार की रूप रेखा बनाई गई थी। जिला अस्पताल में मेडिसीन, हड्डी रोग, नेत्र रोग, कान, नाक, गला रोग, एसएनसीयू एवं वेन्टिलेंटर डिफेब्रिलेटर हेतु विशेषज्ञ चिकित्सकों की व्यवस्था का निर्णय लिया गया था, जो अमल में ला लिया गया है। जिला चिकित्सालय में मर्च्युरी के लिए एक नग फ्रीजर क्रय करने और 50 हजार लीटर क्षमता की पानी टंकी निर्माण के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा प्राक्कलन प्रस्तुत करने के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। उच्च स्तरीय पानी ठंकी के निर्माण के लिए भूमि पूजन भी कर लिया गया हैं।  इसके अलावा चिकित्सालय के बर्न यूनिट बनाया गया है। मंत्रीद्वय द्वारा दो एंबुलेंस के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया था, दो एम्बूलेंस इस जिले को प्राप्त हो गया है। जिला चिकित्सालय के आंतरिक विद्युत व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए 11 के.व्ही.ए. इलेक्ट्रिकल सब स्टेशन के प्रस्ताव का भी अनुमोदन किया गया, जिस पर कार्य तेजी से चल रहा है।

*बदल रही है जिला अस्पताल की तस्वीर*
छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में संचालित होने वाली सौ बिस्तर वाली सरकारी अस्पताल की तस्वीर अब पहले से बेहतर होने लगी और तस्वीर भी बदलने लगी है। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के मंशानुरूप केबिनेट  मोहम्मद अकबर की मेहनत अब रंग ला रही है और उनके द्वारा निरंतर प्रयासों से सरकारी अस्पताल में सुख-सुविधाओं की बढ़ोत्तरी अन्य अत्याधुनिक सुविधाएं कबीरधाम जिले के मरीजों को मिलना शुरू हो गया है। उनके प्रयासों से जिला चिकित्सालय की तस्वीर बदलने के लिए जिले के शासकीय एवं समाजिक संगठनों सहित स्थानीय अलग-अलग संगठनों द्वारा भी अपनी सक्रिय भागीदारी निभाई जा रही है।

*शिक्षा और स्वास्थ्य पहली प्रथमिकता- कलेक्टर अवनीश शरण*
कबीरधाम कलेक्टर  अवनीश कुमार शरण ने बताया कि राज्य शासन के मंशानुरूप जिले में जन सुविधाओं सुविधाओं के लिए शिक्षा और स्वास्थ्य को पहली प्राथमिकता में रखा गया है। जिले के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी को दूर करने 107 शाला संगवारी नियुक्त किए गए है। ग्रामीण चिकित्सा में सुधार के लिए 80 ए.एन.एम.की भर्ती की गई है। इससे जिले के विशेष पिछड़ी बैगा जन जाति के युवक युवतियों सहित मेडिकल क्षेत्र में शिक्षित युवतियों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिला है। इसी तरह लोगों की मूलभूत सुविधाओं पेयजल, सड़क, सिंचाई के विस्तार के लिए अलग-अलग कार्ययोजना बनाई गई है। पूरे प्रदेश में कबीरधाम जिले को एक मॉडल जिले के रूप में पहचान बनाने के लिए और बेहतर प्रयास किए जा रहे है।

*हर प्रकार के मरीजो का होगा उपचार- सिविल सर्जन डॉ सुजॉय मुखर्जी*
कवर्धा जिला अस्पताल अधीक्षक डॉ सुजॉय मुखर्जी ने बताया कि चिकित्सकीय सुविधाओं का निरंतर विस्तार किया किया जा रहा है। चार अलग-अलग विषय विशेषज्ञों की भर्ती होने के बाद अस्पताल में आने वाले सभी प्रकार के मरीजो को इसका लाभ मिलना शुरू हो गया है। जल्द ही अस्पताल में सेन्ट्रल आॅक्सीजन सप्लाई यूनिट संचालित होगी। इसके अलावा वार्डों  अलग-अलग सुविधा बढ़ाई जा रही है।स्त्री रोग विशेषज्ञ आने के बाद संस्थागत प्रसव में भी बढ़ोतरी हुई है।

* कवर्धा जिला अस्पताल में उपलब्ध सुविधाएं *

नवजात शिशुओं के लिए अत्याधुनिक गहन चिकित्सा सुविधाएं * कुपोषित बच्चों के लिए एनआरसी वार्ड संचालित * ️परिवार नियोजन कार्यक्रम प्रांरभ *अस्थिरोग विषेषज्ञ आने से आॅपरेशन शुरू * स्त्री रोग जांच एवं परीक्षण सहित उपचार की सुविधा * नाक,कान गला से संबधित बीमारी की जांच की सुविधा * पैथालाॅजी जांच की सुविधा * ब्लड बैंक की सुविधा * बर्न यूनिट सुविधा * सोनोग्राफी की सुविधा * एक्स-रे की सुविधा * न्यूनतम दर पर ब्लड जांच की सुविधा * पल्सआक्सिमीटर की सुविधा* मरीजों के लिए निःशुल्क शुद्ध पेयजल की सुविधा * मरीजों को निःशुल्क एक समय का नास्ता तथा दो समय को भरपूर पेट पौष्टिक आधार की सुविधा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!