अजय निभा रहे फुटबॉल कोच का रोल

अजय निभा रहे फुटबॉल कोच का रोल

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

दक्षिणापथ,सूरजपुर। भारतीय डाक विभाग निरंतर प्रदत्त सेवाओं में विस्तार कर रहा है। इन सेवाओं का लाभ आम लोगों को आसानी से मिले, इसका भी प्रसास किया जा रहा है। डाक विभाग का इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, बैंकिंग सेवा हो या आधार के माध्यम से किसी भी बैंक से पैसा निकालना हो, आम आदमी के लिए सरल एवं सहज सेवा के रूप में इसकी पहचान है।
इस फेहरिस्त में एक और सेवा को जोड़ते हुए विभाग ने अब पेंषनर को जीवन प्रमाण पत्र (लाइफ सर्टिफिकेट) बनाने की सुविधा उपलब्ध करा दी है। अब डाकघर में भी पेंषनर्स जीवन प्रमाण पत्र बनवा सकेंगे। सूरजपुर जिले के डाकघरों में इस सेवा की शुरूआत 1 नवंबर से हो चुकी है। जीवन प्रमाण पत्र बनवाने का चार्ज 70 रूपये है। डाकघर में पेंषधारी जीवन प्रमाण पत्र बनाने के लिए जरूरी डाॅक्यूमेंट लेकर जाएंगे और सिर्फ 1 मिनट में डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र बन जाएगा। इस सेवा के शुरू होने से जिले में पेंषनधारियों को फायदा मिलेगा। सेवा शुरू होने से पेंषनधारियों को अब जीवन प्रमाण पत्र बनाने के लिए बैंक के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। किसी भी बैंक में पेंषनर्स की पेंषन आती है तो वो जीवन प्रमाण पत्र डाकघर में बनवा सकेंगे।

सेवा का लाभ लेने के लिए यह जरूरीः-

पेंषनर्स के पास पीपीओ नंबर, आधार नंबर और मोबाईल नंबर होना जरूरी है। पोस्टमैन आधार के माध्यम से डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जारी करेंगे। जो खुद ही पेंषन जारी करने वाले से संबंधित विभाग या बैंक में अपडेट जो जाएगा।

डोरस्टेप सुविधा भीः-

जो डाकघर जाकर डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र बनाने में असमर्थ हैं, उनके लिए डोरस्टेप की सुविधा भी है। इसके लिए पेंषनर्स के किसी परिवार को नजदीकी डाकघर में जाकर इसकी सूचना देनी होगी। इसके बाद डाकघर का कर्मचारी पेंषनधारी के घर जाकर जरूरी प्रोसेस करेगा।

जानिए ऐसे मिल सकता है डिजिटल सर्टिफिकेटः-

डिजिटल सर्टिफिकेट पाने के लिए पेंषनरों को एक खास प्रमाण आईडी बनानी होगी, यह विषिष्ट आईडी होती है। यानी हर एक पेंषनर के लिए अलग-अलग होती है। पेंषनर इसे अपने आधार नंबर और बायोमैट्रिक्स का इस्तेमाल करके बना सकते हैं। पहली बार इस आईडी को जनरेट करने के लिए पेंषनर स्थानीय सिटीजन सर्विस सेंटर जा सकते हैं। पेंषनभोगी को आधार नंबर, मोबाईल नंबर, पेंषन पेमेंट आॅर्डर (पीपीओ) नंबर और पेंषन खाता संख्या के अलावा अंगुली के निषान देने होगें।

मुख्य डाकघर समेत सभी 56 बीओ में सुविधा शुरूः-

डाक विभाग के इंडिया पोस्ट पेमेंट्स के सूरजपुर के असिस्टेंट ब्रांच मैनेजर ने कहा कि केन्द्र या राज्य सरकार के पेंषनर को हर वर्ष एक नवंबर से 31 दिसबंर के बीच में जीवन प्रमाण पत्र देना पड़ता है, ताकि उन्हे पेंषन मिलती रहे। जिसके मुख्य डाकघर समेत सभी 56 बीओं में डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र बनाने की सुविधा 1 नबवंर से शुरू हो चुकी है। ग्रामीण क्षेत्र के पेंषनर्स अपने नजदीकी शाखा डाकघर में ले सकेंगे। इसके लिए सिर्फ 70 रूपये देने होंगे।