फेरी वाले चोर, को कोतवाली पुलिस ने धर दबोचा

फेरी वाले चोर, को कोतवाली पुलिस ने धर दबोचा


Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86

गुनगुने पानी में नमक मिला कर दिन में दो-तीन बार गरारे करें। गरारे करने के तुरन्त बाद कुछ ठंडा न लें। गर्म चाय या गुनगुना पानी पिएं। कच्चा सुहागा आधा ग्राम मुंह में रखें और उसका रस चुसते रहें। दो तीन घण्टों मे ही गला बिलकुल साफ हो जाएगा l खराश या सूखी खाँसी के लिये पिसी हुई अदरक में गुड़ और घी मिलाकर खाएँ । गुड़ और घी के स्थान पर शहद का प्रयोग भी किया जा सकता है l सोते समय एक ग्राम मुलहठी की छोटी सी गांठ मुख में रखकर कुछ देर चबाते रहे। फिर मुंह में रखकर सो जाए। सुबह तक गला साफ हो जायेगा। मुलहठी चूर्ण को पान के पत्ते में रखकर लिया जाय तो और भी अच्छा रहेगा। इससे सुबह गला खुलने के साथ-साथ गले का दर्द और सूजन भी दूर होती है। रात को सोते समय सात काली मिर्च और उतने ही बताशे चबाकर सो जायें । बताशे न मिलें तो काली मिर्च व मिश्री मुंह में रखकर धीरे-धीरे चूसते रहने से बैठा गला खुल जाता है। जिन व्यक्तियों के गले में निरंतर खराश रहती है या जुकाम में एलर्जी के कारण गले में तकलीफ बनी रहती है, वह सुबह-शाम दोनों वक्त चार-पांच मुनक्का के दानों को खूब चबाकर खा लें, लेकिन ऊपर से पानी ना पिएं। दस दिनों तक लगातार ऐसा करने से लाभ होगा।1 कप पानी में 4-5 कालीमिर्च एवं तुलसी की थोंडी सी पत्तियों को उबालकर काढ़ा बना लें और इस काढ़े को पीये। गला बैठ जाने पर करे ये घरेलु उपचार योगगुरु संजय चौबे 1. रात को सोते समय 11-12 काली मिर्च बताशों के साथ चबा कर गर्म चादर ओढ़ कर सो जाए, सर्दी ज़ुकाम से बैठा हुआ गला साफ़ हो जायेगा। 2. एक गिलास गर्म पानी में डेढ़ चम्मच शहद डाल कर गरारा करने से बैठा हुआ गला ठीक हो जाता हैं और आवाज़ खुल जाती हैं। 3. गर्म पानी में नमक डाल कर गरारे करने से बैठा हुआ गला सही हो जाता हैं। 4. अजवायन और शक्कर उबाल कर पीने से गला खुल जाता हैं। 5. आधा ग्राम हींग गर्म पानी में उबालकर गरारा करे, ज़ुकाम से बैठा हुआ गला साफ़ हो जायेगा। 6. शलजम को पानी में उबाल कर उस पानी को पीने से गले की खराश मिट जाती हैं। 7. यदि किसी गायक की मधुर या सुरीली आवाज़ बैठा गयी हैं तो प्याज के रस में थोड़ी सा शहद मिलाकर गुनगुने पानी के साथ ले। एक सप्ताह के भीतर ही आश्चर्यजनक रूप से लाभ मिलेगा। 8. हल्दी और गुड को मिलाकर गुनगुने पानी के साथ निगल ले चौबीस घंटे के भीतर आपका गला साफ़ हो जायेगा। 9. सौंठ, पोदीना, दालचीनी और हरी चाय का काढ़ा बनाकर पीने से सारा कफ बाहर निकल आएगा और गला साफ़ हो जायेगा। 10. तीन – चार काली मिर्च मिश्री के साथ चबाकर खाए। 11. मुलहठी और मिश्री के चूर्ण को चबाते रहिये, चौबीस घंटे में गला साफ़ हो जायेगा। 12. गर्म पानी में लहसुन का रस डालकर गरारे करने से गला साफ़ होता है और आवाज़ सुरीली बनती हैं। 13. गला ख़राब हो गया हो, बोलने में कठिनाई हो रही हो तो 10-12 तुलसी के पत्ते चबा चबा कर खा ले आधा घंटे में आवाज़ खुल जाती हैं। 14. गुनगुने पानी में नीम्बू का रस निचोड़कर व् नमक मिलाकर गरारे करने से लाभ होता है ljl