भाजपा पार्षदों कि बैठक में जनहित के मुद्दे को लेकर संघर्ष करने की बनी रणनीति, संगठन ने कहा निगम सरकार की नाकामियों को जनता तक पहुंचाए…

भाजपा पार्षदों कि बैठक में जनहित के मुद्दे को लेकर संघर्ष करने की बनी रणनीति,  संगठन ने कहा निगम सरकार की नाकामियों को जनता तक पहुंचाए…

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

दक्षिणापथ। अगर आप कुछ करने के लिए ठान लें और लगातार मेहनत करते रहें तो आपको अपनी मंजिल जरूर मिलेगी। ऐक्ट्रेस सेजल शाह ने ऐसा ही उदाहरण प्रस्तुत किया है। दरअसल, सेजल शाह छह साल से मुंबई में स्ट्रगल कर रही थीं मगर बीते दो साल में उनकी किस्मत खुली। ऐक्ट्रेस बनने का सपना लेकर मुंबई पहुंची सेजल शाह ने एक समय फुटपाथों पर रातें काटी हैं और वड़ा-पाव-समोसे खाकर दिन गुजारे हैं।
सेजल शाह की लगातार कड़ी मेहनत के बाद किस्मत ने दरवाजे खोले। जिस ईवेंट मैनेजमेंट कंपनी में उन्हें काम मिला, वहीं मॉडल को-ऑर्डिनेटर ने उन्हें एक फटॉग्रफर के लॉन्जरी शूट में भेजा। फटॉग्रफर ने उनके लुक्स और फिगर को पसंद किया। इसके बाद उन्होंने कई फैशन डिजाइरों के लिए रैंप पर लॉन्जरी वॉक किए। फोटो और वीडियो शूट कराए। फिर उन्हें ओटीटी प्लेटफॉर्मों पर मौका मिला। अभी तक सेजल शाह की मेरे हस्बैंड की दुल्हनिया, वेडिंग नाइट्स और गन पॉइंट नाम की सीरीज आ चुकी हैं। पिछले दिनों एक कनाडाई ऐप के लिए सेजल ने वेब सीरीज शूट की। उनकी एक और वेब सीरीज देवदासी रिलीज को तैयार है।
सेजल शाह बताती हैं कि वह रतलाम (मध्यप्रदेश) जैसे छोटे रूढ़ीवादी शहर से हैं। वह पारंपरिक परिवार में बंदिशों के बीच पली-बढ़ीं। जब परिवार में किसी ने उन्हें समझने की कोशिश नहीं की तो वह 16-17 साल की उम्र में घर से भाग कर मुंबई आ गई। सेजल शाह का सपना बॉलिवुड सितारों के साथ काम करना नहीं है, बल्कि वह अच्छे निर्देशकों के साथ काम करना चाहती हैं। वह कहती हैं संजय लीला संभाली के साथ काम करना मेरा ड्रीम है। मैं ऐसी बॉलिवुड फिल्मों का हिस्सा बनना चाहती हूं जिनमें हमारे इतिहास और संस्कृति को दिखाया जाए। मैं खुद भी ऐतिहासिक फिल्में प्रॉड्यूस करना चाहती हूं।
सेजल शाह अब फिल्मों में कदम रख रही हैं। उनकी डेब्यू फिल्म ऑल लेडीज डू इट 10 नवंबर को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होगी। 1960-70 के मशहूर इटैलियन फिल्मकार टिंटो ब्रास की क्लासिक कही जाने वाली ऑल लेडीज डू इट से प्रेरित इस हिंदी फिल्म में सेजल शाह ने ऐसी युवती की भूमिका निभाई है जो पति के साथ मिलकर एक युवक का शिकार करती है। इस इटैलियन इरॉटिक फिल्म को भारतीय रंग-रूप में ढालने पर सेजल शाह बताती हैं कि कहानी में मेरे किरदार को हमने ऐसे गढ़ा है कि यहां मैं वेस्टर्न लुक में भी हूं और मैंने साड़ी भी पहनी है। फिल्म के निर्देशक अखिल गौतम हैं। वह ऐसे काम करना चाहती हैं जो नई पीढ़ी की लड़कियों के लिए प्रेरणा स्रोत बनें। लड़कियां उन्हें देख कर निडर बनें और दकियानूसी सोच के खिलाफ अपनी आवाज उठाएं।