संविधान हमारे अधिकारों की रक्षा के लिए : सलमान खुर्शीद

नई दिल्ली । जामिया मिल्लिया इस्लामिया के बाहर हो रहे नागरिकता संशोधन विधेयक एनपीआर, एनआरसी के खिलाफ शुरू किए गए आंदोलन में छात्रों के समर्थन में कांग्रेस के नेता सलमान खुर्शीद पहुंचे। रविवार को आंदोलन का 38वां दिन था। कांग्रेस के नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा की विश्व में जहां भी भारत का नाम लिया जा रहा है जामिया और शाहीनबाग की जांबाज औरतों का भी नाम जुड़ गया है। ये प्रदर्शनकारियों की भीड़ केवल हिन्दू या मुस्लिम की नहीं बल्कि ये भीड़ मानवता के लिए है। जामिया में मानवता के लिए लोग एकजुट हुए हैं। हमारा संविधान हमारे अधिकारों की रक्षा के लिए है, हम पर हमला करने के लिए नहीं। आज ये लड़ाई केवल नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी एवं एनपीआर के विरुद्ध नही रह गई है। मालूम हो कि उलेमा काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना आमिर रश्दि ने कहा की उन्होंने 12 साल पहले ये नारा दिया था- एक पैर रेल में, एक पैर जेल में। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि पूरे विश्व में जो भी प्रताड़ित हो रहा है, उसे तुरंत नागरिकता मिलनी चाहिए। इससे पहले हमारे देश में जो लोग प्रताड़ना से जूझ रहे हैं, उनके बारे में कौन बात करेगा। उन्होंने कहा जितने लोग आएंगे, उनको कहां रखा जाएगा। वही जामिया के छात्र नेता सुहैल शमीम ने कहा कि हम जामिया कोआर्डिनेशन कमिटी की तरफ से यहां बैठी औरतों को सलाम करते हैं। ये लड़ाई केवल मुसलमानों के लिए नहीं, सभी वर्गों की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!