हार्दिक को बेवजह परेशान कर रही है भाजपा : प्रियंका

हार्दिक को बेवजह परेशान कर रही है भाजपा : प्रियंका

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

बीजापुर जिले में आने वाले सभी लोगों की होगी कोरोना जांच

दक्षिणापथ,बीजापुर।अत्यंत घातक साबित हो रहे कोरोना के आंध्रप्रदेश स्ट्रेन को बीजापुर जिले में पहुंचने से रोकने के लिए कड़ी निगरानी रखने के निर्देश कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने दिये हैं। कलेक्टर अग्रवाल ने कोविड टास्क फोर्स की बैठक में कहा कि बीजापुर में पहुंचने वाले प्रत्येक व्यक्ति की कोरोना जांच सुनिश्चित किया जाये, चाहे वह किसी भी साधन से जिले में प्रवेश किया हो। उन्होने सीमावर्ती राज्य तेलंगाना और महाराष्ट्र की सीमा के साथ ही अन्य जिले की सीमा में स्थित जांच चैकियों में सभी यात्रियों की कोरोना जांच सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होने कहा कि तेलंगाना से आने वाले अधिकतर यात्री भोपालपटनम ब्लाक के तारलागुड़ा और उसूर ब्लाक के पामेड़ एवं पुजारीकांकेर के रास्ते से जिले की सीमा में प्रवेश करेंगे। वहीं तिमेड़ मार्ग द्वारा महाराष्ट्र से आने वाले यात्री जिले में दाखिल होंगे। इसे मद्देनजर रखते हुए उक्त सभी स्थानों में जांच चैकियों पर कड़ाई के साथ सभी यात्रियों और आने वाले लोगों का कोरोना जांच सुनिश्चित किया जाये। तेलंगाना और महाराष्ट्र से आने वाले ट्रक एवं अन्य माल वाहक वाहनों के वाहन चालकों को भी कोरोना जांच के पश्चात ही जिले में प्रवेश करने दिया जाये। इसके साथ ही दंतेवाड़ा जिले की सीमा में स्थित बांगापाल जांच चैकी में भी पूरी सतर्कता के साथ वाहन चालक सहित हर यात्री की कोरोना जांच की जाये। उन्होने इस कार्य के लिए जांच चैकियों में 24 घण्टे कर्मचारियों की रोस्टर अनुसार ड्यूटी लगाये जाने के निर्देश दिये। वहीं इन जांच चैकियों में सुरक्षा के लिए पुलिस जवानों की तैनाती सुनिश्चित किये जाने के निर्देश भी दिये। उन्होने इस दिशा में किसी भी प्रकार की लापरवाही बरतने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने की चेतावनी दी।
कलेक्टर अग्रवाल ने अन्य राज्यों तथा जिले से आने वाले हरेक व्यक्ति की कोरोना जांच करने सहित उन्हे क्वारन टाईन केन्द्रों में रखे जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस दिशा में संबंधित क्षेत्र के क्वारन टाईन केन्द्रों में आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित किया जाये। वहीं संबंधित ग्राम पंचायत के पंचायत पदाधिकारी, पंचायत सचिव, रोजगार सहायक तथा अन्य मैदानी अमला बाहर से आने वाले लोगों पर सतत् निगरानी रखें और कोरोना जांच के साथ ही उन्हे क्वारन टाईन केन्द्रों में रखे जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। किसी भी व्यक्ति का कोरोना रिपोर्ट पाॅजीटिव्ह आने की स्थिति में संबंधित के उपचार की व्यवस्था किया जाये। उन्होने इस दिशा में हरेक ग्राम पंचायत स्तर पर गठित टास्क फोर्स को सक्रिय कर व्यापक जनजागरूकता निर्मित करने के लिए निर्देश अधिकारियों को दिये। बैठक में राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, नगरीय निकाय इत्यादि विभागों के अधिकारी मौजूद थे।