जज्बे से काम करेंगे तो खत्म होगी पुलिस के प्रति नकारात्मक छवि – अवस्थी

रायपुर। डीजीपी डी.एम. अवस्थी ने आज राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों के लिए आयोजित वर्टिकल इन्ट्रेक्सन कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य पुलिस अधिकारियों में आत्मविश्वास बढ़ाना है। डीएसपी (उप पुलिस अधीक्षक) पुलिस विभाग की रीढ़ होते हैं। आपकी कहीं पर भी पोस्टिंग हो, अपने अंदर जज्बा बनाकर रखिये। आपके अंदर जज्बा बरकरार रहेगा तो पुलिस की कार्यशैली में भी निखार आएगा। कार्यशैली बढ़िया होने से समाज में पुलिस के प्रति नकारात्मक सोच कम होगी। श्री अवस्थी ने कहा कि पुलिस अधिकारियों को ज्यादा सजग रहना जरूरी है। यदि आप सजग रहते हैं तो पीड़ितों की समस्याओं को जल्दी से सुलझा पाएंगे। सजग और संवेदनशील पुलिस अधिकारी अपराधों की रोकथाम में ज्यादा सक्षम होता है।
श्री अवस्थी ने कहा कि आप लोग बहुत मेहनत और ईमानदारी से राज्य सेवा की परीक्षा पास कर मेरिट के आधार पर डीएसपी बने हैं। इसलिए आपके काम में भी कठोर परिश्रम और ईमानदारी झलकनी चाहिए। सभी पुलिस अधिकारियों को आपस में मेलजोल बढ़ाना चाहिए। एक दूसरे को जानना और समझना चाहिए। यदि ऐसा करते हैं तो एक-दूसरे से बहुत सी अच्छी बातें सीखने को मिलेंगी। मुझे विश्वास है कि वर्टिकल इन्ट्रेक्सन कार्यक्रम से आप लोगों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और व्यक्तित्व निखरेगा।
श्री अवस्थी ने कहा कि इस कार्यक्रम में राज्य के सभी 241 डीएसपी को पांच वर्गों में विभाजित कर बुलाया जा रहा है। इसके बाद पुलिस के बाकी अधिकारियों जैसे निरीक्षक और उप निरीक्षक के लिए भी इन्ट्रेक्सन कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।
कार्यक्रम का शुभारंभ प्रथम सत्र में एडीजी अशोक जुनेजा ने किया। इस अवसर पर डीआईजी ओ पी पाल, आर एस नायक, सुशील चंद्र द्विवेदी, एआईजी राजेश अग्रवाल, आईपीएस कमल लोचन कश्यप उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!