मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय का करेंगे भूमिपूजन

दुर्ग जिले को 253 करोड़ रुपए की लागत वाले विकास एवं निर्माण कार्यों की मिलेगी सौगात

दक्षिणापथ,रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गांधी जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर को दुर्ग जिले को विकास को नई इबारत गढ़ने वाली अधोसंरचनाओं की सौगात देंगे। मुख्यमंत्री श्री बघेल अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रंेसिंग के माध्यम से पाटन-सांकरा, दुर्ग और भिलाई में कुल 253 करोड़ 61 लाख रुपए की लागत वाले 39 निर्माण कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण करेंगे। इसमें प्रमुख रूप से महात्मा गांधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, सांकरा-पाटन का भूमिपूजन शामिल है। लगभग 55 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस विश्वविद्यालय से राज्य में ं उद्यानिकी विकास को बढ़ावा मिलेगा तथा रोजगार एवं स्वालंबन के नए द्वार खुलेंगे। इस उद्यानिकी विश्वविद्यालय में प्रतिवर्ष लगभग 600 स्नातक, 100 स्नातकोत्तर एवं 50 पीएचडी विद्यार्थियों को प्रवेश मिलेगा। इस विश्वविद्यालय के माध्यम से राज्य को उद्यानिकी एवं वानिकी के क्षेत्र में योग्य एवं दक्ष मानव संसाधन उपलब्ध होंगे जो छत्तीसगढ़ राज्य को फल-फूल सब्जी, मसाला एवं उद्यानिकी उत्पाद में आत्मनिर्भर बनाकर राज्य की अर्थव्यवस्था को नया आयाम देने में मददगार साबित होंगे। 

पाटन में होगा 77 करोड़ 28 लाख रुपए के कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन
ग्राम सेलुद में होगा सोलर चरखा प्रशिक्षण केन्द्र का शुभारंभ
मुख्यमंत्री सांकरा-पाटन में महात्मा गांधी विश्वविद्यालय के भूमिपूजन के साथ ही ब्लाक मुख्यालय में शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों के रहने के लिए 5 करोड़ 22 लाख रुपए की लागत से बनाये गए कुल 44 आवास का लोकार्पण करेंगे। इसके साथ ही खारुन नदी में 8 करोड़ 35 लाख रुपए की लागत से उफरा से रवेली मार्ग में उच्चस्तरीय पुल तथा खम्हरिया नाला में अभनपुर-तर्रीघाट पाटन मार्ग में खम्हरिया नाला में 8 करोड़ 17 लाख रूपए से बनने वाले उच्चस्तरीय पुल के निर्माण कार्य का भूमिपूजन करेंगे। इस पुल के बनने से 50 गांवों के लगभग एक लाख से अधिक आबादी को बारहमासी आवागमन की सुविधा मिलेगी। लगभग 37 लाख लागत से बनने वाले सहकारी बैंक की झीट शाखा के नये भवन का भूमिपूजन भी होगा। जिससे लगभग 5 हजार से अधिक किसानों को बैंिकंग सुविधाओं के अलावा समर्थन मूल्य में धान खरीदी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना और अमानत ऋण वितरण में सुविधा मिलेगी। पाटन विकासखण्ड के ग्राम सेलूद में मुख्यमंत्री श्री बघेल सोलर चरखा प्रशिक्षण केन्द्र का शुभारंभ भी करेंगे। इससे आसपास के गांवों की महिलाओं को सोलर चरखा का प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिससे रोजगार के नये अवसर भी उपलब्ध होंगे।
दुर्ग में 138 करोड़ 35 लाख रुपए के कार्यों के लोकार्पण-भूमिपूजन
मुख्यमंत्री दुर्ग शहर में 138 करोड़ 35 लाख रुपए के कार्यों के लोकार्पण भूमिपूजन करेंगे। मुख्यमंत्री दुर्ग के ठगड़ा बांध सौदर्यीकरण हेतु कराए जाने वाले 13 करोड़ 49 लाख रुपए की लागत वाले विकास एवं निर्माण कार्यों की आधारशिला रखेंगे। ठगड़ा बांध के गहरीकरण से शहर का जल स्तर बढ़ेगा। वहीं सौंदर्यीकरण कार्य से दुर्ग के साथ साथ भिलाई एवं रिसाली के लोगों के लिए सुविकसित वाटर बाडी के साथ मनोरंजन स्थल उपलब्ध होंगे। नागरिक सुविधाओं के अनुरूप ट्रैफिक का दबाव कम करने एवं सुंदरता बढ़ाने नेहरू चौक से मिनी माता चौक तक 8 किमी मार्ग का सुदृढ़ीकरण एवं सौंदर्यीकरण कार्य भूमिपूजन होगा, इसकी लागत 68 करोड़ 16 लाख रुपए होगी। इसी प्रकार पुलगांव नाका से अंजोरा तक साढ़े छह किमी फोरलेन निर्माण का भूमिपूजन होगा। इसकी लागत 56 करोड़ 39 लाख होगी।
मुख्यमंत्री दुर्ग शहर के इंदिरा मार्केट सब्जी मंडी में 66.50 लाख रूपए की लागत से शेड निर्माण कार्य, पोटिया में 29.63 लाख रूपए की लागत से और वाय शेप ओव्हर ब्रिज के नीचे स्थित फिल्टर प्लांट के सामने 16.54 लाख रूपए की लागत से उद्यान उद्यान निर्माण का भूमिपूजन करेंगे। सब्जी मंडी में आधुनिक शेड निर्माण से सब्जी विक्रेताओं और आमलोगों को जहां सुविधा मिलेगी वहीं पोटिया में उद्यान निर्माण मार्निंग वॉक और आक्सीजोन की सुविधा मिलेगी। मुख्यमंत्री मछली विभाग के नवनिर्मित प्रशिक्षण हॉल सह भण्डार कक्ष का लोकार्पण भी करेंगे। लगभग 29.97 लाख रूपए की लागत से बनाए गए इस भवन में 100 मत्स्य कृषकों के प्रशिक्षण एवं उपकरणों का भण्डारण की सुविधा मिलेगी।
भिलाई में 37 करोड़ रूपए के 28 कार्यो का लोकार्पण-शिलान्यास: गांधी प्रतिमा का होगा अनावरण

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल इस मौके पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण करने के साथ ही नगर पालिक निगम क्षेत्र भिलाई में लगभग 37 करोड़ रूपए के 28 कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करेंगे। इसके अलावा खुर्सीपार भिलाई में 4 करोड़ 65 लाख रूपए की लागत से बनने वाले नवीन महाविद्यालय भवन का भूमिपूजन होगा।
error: Content is protected !!