सरकारी स्कूल में दशगात्र कार्यक्रम ,कोरोना का उड़ा मजाक..

दक्षिणापथ, दुर्ग। लॉक डाउन खुलने के पहले दिन ही धमधा के ग्रामीण क्षेत्रों में न सिर्फ सोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़ी बल्कि बोरी में एक दशगात्र कार्यक्रम के लिए सरकारी स्कूल में ही सैकड़ो लोगो की भीड़ एकत्र कर ली गई। जबकि अभी दुर्ग कलेक्टर ने किसी भी सामूहिक कार्यक्रम में ढील देने संबंधी कोई दिशा निर्देश जारी नही किया है। ऐसे में बिना प्रसाशनिक अनुमति के स्कूल जैसे संवेदनशील स्थान को दशगात्र जैसे भीड़भाड़ वाले कार्यक्रम के लिए दे देना कोरोना संकट की भयावहता का मजाक उड़ाने वाला कार्य है।
बताया गया कि पिछले दिनों बोरी सरपंच का निधन हो गया था। जिनका दशगात्र कार्यक्रम एक अक्टूबर को था। कार्यक्रम के लिए गांव के सरकारी स्कूल को हायर किया गया था, जबकि कोरोना के चलते ऐसे सभी कृत्यों पर रोक लगी हुई है।

error: Content is protected !!