आरंग में आयोजित ऑनलाइन पेंटिंग प्रतियोगिता में विदेश तथा अन्य राज्य से शामिल हुए प्रतिभागी

दक्षिणापथ, आरंग । आरंग में स्थानीय स्तर पर व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर – मेरी प्रतिभा, मेरी पहचान…नामक पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।
आयोजन के दौरान लोग जुड़ते गए और धीरे-धीरे आरंग, रायपुर, महासमुंद, भिलाई, भाटापारा, बिलासपुर, जगदलपुर, झारखंड और सऊदी अरबिया के बच्चे और बड़े शामिल हुए।
27 सितंबर को आयोजित इस प्रतियोगिता में बच्चे और बड़ों ने अपने ही घर से प्राप्त रामायण शीर्षक पर खूबसूरत पेंटिंग बनाकर, बहुत ही उत्साह के साथ भाग लिया
लगभग 70 प्रतिभागियों ने इस प्रतियोगिता में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।
कोरोना महामारी के इस माहौल में लोगों का घर से पेंटिंग बनाने का उत्साह देखते ही बन रहा था।
प्रतियोगिता में
प्रथम- गीतांजलि साहू आरंग
द्वितीय- अंकिता अग्रवाल, रायपुर
नीतू अग्रवाल, रायपुर
तृतीय- शिवांगी अग्रवाल, रायपुर
गोवर्धन अजगर, आरंग
हंसिका अग्रवाल, बिलासपुर को मिला।
इनके अलावा सांत्वना पुरस्कार
साइनिंग स्टार- सृष्टि चंद्राकर, भिलाई
मानसी बाघमार, रायपुर
नंदनी देवांगन, आरंग
खुशी अग्रवाल, भाटापारा को मिला
विशेष पुरुस्कार राइजिंग स्टार बच्चों को दिया गया जिसमें
आदित्य राज अग्रवाल, रायपुर
परिधि राठौर, झारखंड
दिव्या चौहान, भिलाई और
आयुषी गुप्ता, आरंग ने बाजी मारी।
इस प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में श्री राहुल सोनपिपरे, राजनांदगांव श्रीमती नंदिता राज वी., नागपुर और सुमेघा अग्रवाल, आरंग रहीं।
जिन्हें मेरी प्रतिभा मेरी पहचान आयोजक टीम की तरफ से सादर धन्यवाद ज्ञापित किया गया।
लोगों में उत्साह इतना ज्यादा था कि बार-बार ऐसी प्रतियोगिता के आयोजन को कहा गया
प्रतिभागियों ने समापन पर आयोजक समिति को कई शुभकामना संदेश लिखा इन्ही संदेशों में से एक सन्देश था “साहस की खिड़की बंद पड़ी थी
शीशों पर भय की धूल जमी थी
आपने दिया शुभ अवसर ऐसा
झाड़ू बेलन करछी थामें प्रतिभा मुस्कुराती खड़ी थी”

error: Content is protected !!