किरदार को स्क्रिप्ट में अहमियत मिले: अदा शर्मा

दक्षिणापथ। अभिनेत्री अदा शर्मा चाहती हैं कि उनके किरदार को स्क्रिप्ट में अहमियत मिले, भले ही वह पेड़ों के आसपास दौड़ती, नाचती एक संकोची लड़की का किरदार निभाए।
अदा ने कहा, मुझे पेड़ों के इर्द-गिर्द घूमना, नाचना पसंद है और मुझे संकोची लड़की का किरदार निभाना भी पसंद है, जिन्हें मैंने अपनी कुछ दक्षिण फिल्मों में निभाया भी है। मेरा अर्थ यह है कि अगर मैं एक संकोची लड़की की भी भूमिका निभा रही हूं या पेड़ों के चारों ओर दौड़ रही हूं, तो मैं चाहती हूं कि वह स्क्रिप्ट में महत्वपूर्ण हो।
उन्होंने आगे कहा, मैं जो भी कर रही हूं, चाहती हूं कि वह स्क्रिप्ट के लिए महत्वपूर्ण हो। इसलिए, मेरे लिए एक भूमिका चुनना सिर्फ प्यारी लड़की या बुरी लड़की को लेकर नहीं है।
उनसे पूछे जाने पर कि स्क्रिप्ट साइन समय वह क्या देखती है? इस पर उन्होंने कहा, मैं चाहती हूं कि यह (चरित्र) कथानक के लिए महत्वपूर्ण हो। यदि आप कहानी से चरित्र को हटा देते हैं, तो क्या कहानी तब भी काम करेगी? कभी-कभी मैं ऐसी फिल्में करती हूं जहां, हां, यदि आप मेरे किरदार को हटा दें तो भी कहानी काम करेगी। लेकिन अपने चरित्र को यादगार बनाने के लिए प्रयास करती हूं।

error: Content is protected !!