कोरोना के इस महामारी में बीएसपी के टी एंड डी विभाग 100 नियमित ठेका श्रमिकों की छटनी के तहत दिखा रहा है बाहर का रास्ता……..सीएम भुपेश से की मानवीय दृटिकोण सहयोग की अपील..

दक्षिणापथ, भिलाई । जिला कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी जावेद खान ने मार्मिक पत्र के माध्यम से मुख्यमंत्री सहित क्षेत्र के समस्त जनप्रतिनिधयो से अपील की है की कोरोना संक्रमण की इस महामारी के दौर मे भिलाई इस्पात संयंत्र के टी एंड डी विभाग के ठेका श्रमिकों की हो रही छटनी को मानवीय अधार पर तत्काल रद्द करे।
भिलाई इस्पात संयंत्र के अंतर्गत आने वाले टी एंड डी विभाग से इस कोरोना संक्रमण काल मे कल दिनांक 1/10/2020 से लगभग 100 नियमित ठेका श्रमिकों की छटनी के तहत बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है जो की काफी दुखदाई है इनमे से अधिकांश श्रमिकों को काम करते हुए लगभग दस से बारह साल हो गये थे उसके बावजूद भी छटनी के तहत इनको निकाला जा रहा है जिसके पिछे टी एंड डी विभाग प्रमुख का तर्क है की बी एस पी के बहुत से विभाग बंद होने के कारण वंहा के कर्मचारियों का हस्तांतरण टी एंड डी मे हुआ है इसलिए अब यह नियमित प्रवृति के काम हस्तांतरित हो कर आये बी एस पी कर्मचारियों द्वारा कराया जाएगा ,ये तो हुआ विभाग का व्यवसायिक जवाब जिसमे मानवीय पहलू कंही भी नही है लेकिन भिलाई इस्पात संयंत्र एक पब्लिक सेक्टर का सयंत्र इसलिए मुख्य मंत्री जी से अपील है की मानवीय अधार पर इस मामले मे हस्तक्षेप करे क्योकी कोरोना संक्रमण के इस दौर मे ये मजदूर जो बारह वर्षो से काम कर रहे थे वह अचानक कंहा जाएंगे इनके सामने भूखे मरने की नौबत आ गयी सभी घर परिवार वाले है । भिलाई इस्पात संयंत्र एक बड़ा संयंत्र है जंहा ‘सी एस आर ‘ के तहत ही करोडो रुपये खर्च कर दिये जाते है इसलिए अगर मुख्य मंत्री कार्यालय भिलाई इस्पात सयंत्र प्रबंधन ,पर मानवीय द्रष्टिकोण को मद्देनजर रखते हुए हस्तक्षेप करता है और कोरोना जैसी महामारी का वास्ता देते हुए सयंत्र प्रबंधन से बात करता है तो कोई ना कोई रास्ता जरुर निकल सकता है जिस से कि ये मजदूर कोरोना संक्रमण के दौर मे भूखे मरने से बच जाएंगे।

error: Content is protected !!