5 गांव के सरपंच ने पटवारी पर लगाए गंभीर आरोप, एसडीएम बोले ग्रामीणों की शिकायत मिली है होगी जांच

दक्षिणापथ, रामानुजगंज(विकाश कुमार केशरी)। तहसील अंतर्गत हल्का नंबर 15 एवं 16 के पटवारी के मुख्यालय में नहीं रहने एवं अनावश्यक रूप से किसानों को परेशान किए जाने का आरोप लगाते हुए 5 ग्राम पंचायतों के सरपंच सहित दर्जनों ग्रामीणों ने कलेक्टर एवं एसडीएम को ज्ञापन सौंप पटवारी के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की है।
कलेक्टर एवं एसडीएम को सौंपे ज्ञापन में 5 ग्राम पंचायतों के सरपंच एवं दर्जनों ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि हल्का नंबर 16 एवं 15 में ग्राम दोलंगी, सीलाजु,उचरवा,बरवाही,इंद्रावतीपुर आते है जहाँ करीब 1 वर्ष से पटवारी के पद पर पदस्थ पटवारी न तो कभी गांव में भ्रमण में आते हैं न कभी अपने मुख्यालय में ही रहते हैं जिस कारण हम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है तथा हर छोटे बड़े काम के लिए रामानुजगंज आना पड़ता है। वर्तमान में गाड़ी नहीं चलने से पैदल तथा बाइक से आना पड़ता है। आने के बाद घर पर ही नहीं मिलते हैं जिससे दिन भर परेशान रहना पड़ता है। कलेक्टर एवं एसडीएएम को सौपे ज्ञापन में ग्राम पंचायत दोलंगी के सरपंच संजय पंडो ग्राम पंचायत उचरुरवा के सरपंच बिंदा सिंह, ग्राम पंचायत इंद्रावतीपुर के सरपंच मोहन सिंह ग्राम पंचायत मरवाही के सरपंच सविता सिंह सहित दर्जनों ग्रामीणों ने हस्ताक्षर किए हैं।

हर छोटे से छोटे काम के लिए 1000 से 5000 मांगता है साहब- ग्रामीणों ने सौंपे ज्ञापन में आरोप लगाया है कि पटवारी के द्वारा b1, खसरा, डिजटल सिग्नेचर करने के लिए 1000 से ₹5000 की मांग की जाती है यहां तक कि कहा जाता है कि शुल्क शासन द्वारा निर्धारित है। फौती, नामांतरण ,बंटवारा का एक भी काम नहीं हुआ-   सौंपे ज्ञापन में यह भी उल्लेख किया है कि फौती, नामांतरण, बंटवारा का एक भी काम नहीं हुआ है वही जाति निवास आय के लिए पटवारी प्रतिवेदन भरवाने के लिए भटकना पड़ता है मुलाकात होने के बाद भी आजकल करके टाल देते हैं जिससे हम सब काफी परेशान रहते हैं। 40% से अधिक लोगों का नहीं है डिजिटल सिगनेचर- ग्रामीणों ने सौंपे ज्ञापन में यह भी आरोप लगाया है कि 40% से अधिक डिजिटल सिग्नेचर नहीं होने के कारण काफी परेशानी का सामना हम सब को करना पड़ रहा है। मोबाइल भी रहता है नेटवर्क क्षेत्र से बाहर- ग्रामीणों ने कहा कि पटवारी न तो अपने मुख्यालय में रहते हैं न तो घर में मिलते हैं वही हम लोग जब परेशान होकर उनको मोबाइल भी लगाते हैं तो उनका मोबाइल हमेशा आउट ऑफ कवरेज बताता है जिससे हमारी परेशानी और बढ़ जाती है।

इस संबंध में एसडीएम अभिषेक गुप्ता ने कहा कि ग्रामीणों की शिकायत आई है इसकी जांच करके उचित कार्यवाही की जाएगी।

error: Content is protected !!