अपने राजनीतिक वजूद को बचाने और राष्ट्रीय कार्यकारिणी मे स्थान पाने की कवायद के तहत महापौर और पार्षदो पर हमले करने पडे

दक्षिणापथ, भिलाई । जिला कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी जावेद खान ने बताया की भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित होने के ठीक पहले पूर्व कैबिनेट मंत्री को स्थानीय विधायक एंव महापौर पर टिप्पणी करने की क्यों जरूरत पड़ी ये बात आज कार्यकारिणी घोषित होने के बाद समझ मे आ गयी,पूर्व मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी जी के व्यकित्व और कृतत्व के उदबोधन के नाम पर आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में मोदी जी का जम कर स्तुतिगान किया उनहोने यंहा तक कह दिया कि, मोदी जी घड़ी को देख कर नही चलते बल्कि घड़ी मोदी जी को देख कर चलती है यंहा तक तो सब ठीक है क्योकी यह कार्यक्रम ही मोदी जी के व्यकित्तव पर आधारित था लेकिन कार्यक्रम के माध्यम से स्थानीय विधायक एंव कांग्रेस के पार्षदो को टारगेट करने की आखिर क्यो जरूरत पड़ी ? इसके पिछे पूर्व मंत्री के राजनैतिक जीवन को नजदीक से जानने वाले बता सकते है की सन् 1998 के बाद से पूर्व मंत्री हारने के बाद हमेशा मौन धारण कर लेते है कभी कोई राजनीतिक बयानबाजी नही करते और यंहा तक कहते थे की जनता हराती है और जनता ही जिताती है अपनी राजनीतिक पृष्टभूमि पर स्वंय पूर्व मंत्री नजर डाल कर देख सकते है,लेकीन सवाल यह उठता है की अब ऐसा क्या हो गया की भाजपा की अंदरूनी गुटबाजी के कारण अपने राजनीतिक वजूद को बचाने के लिए उनको कांग्रेस के महापौर और पार्षदो पर कोरोना के संक्रमण के दौर मे हमले करने पड रहे ,बेहतर होता की मोदी जी के स्तुति गान के लिए आयोजित कार्यक्रम मे वह प्रधान मंत्री के व्यकित्तव पर ही बोलते ,लेकिन इतना स्तुति गान करने के बाद भी पूर्व मंत्री राष्ट्रीय कार्यकारिणी मे जगह नही बना पाये ,जब की उनके गुट की ओर से पुरी कोशिश की गयी थी। अविभाजित म प्र की भाजपा की राजनीति मे छग से पांच पांडव के रूप मे अपनी पहचान बनाने वाले मे से एक पूर्व मंत्री हमेशा से भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के विरोधी रहे है और इस बार पुरी कोशिश थी की पांच पांडव मे से किसी एक को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी मे स्थान मिले जिसके लिए पूर्व कैबिनेट मंत्री का ही नाम आगे किया गया था लेकिन कार्यकारिणी की घोषणा होते ही दिल के अरमान आंसुओ मे बह गये और स्थानीय विधायक एवं महापौर पर टिप्पणी करने का असल कारण भी जनता के समझ मे आ गया।

error: Content is protected !!