पदस्थ थानेदार मोहसिन खान ने मवेशी तस्करों पर बरपाया अपना कहर, 100 नग मवेशी तस्करो से छुड़ाकर गोठान में किया सुपुर्द

दक्षिणापथ,पत्थलगांव।खेत के रास्ते तस्करी कर झारखण्ड के बुचड़ खाना ले जाए जा रहे 100 नग मवेशियों को पुलिस ने बरामद किया है। मौके का लाभ उठा कर मवेशी तस्कर भाग निकले वही हांकने वाले दो ग्रामीण गिरफ्तार हुवे है। घटना पत्थलगांव क्षेत्र के ग्राम जाम जुनवानी की है। जानकारी के मुताबिक पत्थलगांव थानेदार मोहसीन खान को सूचना मिली थी कि मवेशी तस्कर ग्राम जामजुनवानी के जंगल के रास्ते बड़ी संख्या में गौ वंशजों की तस्करी कर झारखण्ड की ओर ले जा रहे हैं। सूचना पर एसडीओपी योगेश देवांगन के निर्देश पर पुलिसकर्मी नसीरुद्दीन अंसारी,भोज साहू,आरक्षक राजेन्द्र रात्रे ने घेराबन्दी कर तस्करों को घेर लिया। पुलिस से स्वयं को घिरा हुआ देख कर तस्करों में अफरा-तफरी मच गई। भगदड़ का लाभ उठाते हुए तस्कर जंगल की ओर भाग निकले। वही मौके से दो आरोपी मोहर साय पिता रूपसाय 50 साल गनपतपुर धर्मजयगढ़ बोध लकड़ा पिता मोंटू लकड़ा तिलडेगा 60 साल को पुलिस ने हिरासत में लिया तस्करों के भागने के बाद पुलिस ने मौके से 100 नग मवेशी जब्त की। पकड़े गए मवेशियों में बैल और कुछ बछड़े भी बरामद किए गए हैं। घटना की सूचना पर पत्थलगांव पुलिस ने ग्रामीणों द्वारा पकड़े गए तस्करी के मवेशियों को जब्त करते हुए देख भाल के लिए सुपुर्दनामें में सुरेशपुर स्थित गोठान के हवाले कर दिया है। पत्थलगांव टीआई ने बताया कि दोनों आरोपियों को छत्तीसगढ़ कृषि पशुपालन अधिनियम 2004 की धारा 6(10) के तहत जेल भेजा जा रहा है।
पूर्व पदस्थ पुलिस अधिकारियों की गौ तस्करी में भूमिका संदेहास्पद
पत्थलगांव क्षेत्र से कुछ ही दूरी पर स्थित मवेशी बाजार चरखा पारा से मवेशी तस्करी का मामला हमेशा ही सुनने में आता रहा है जहां से मवेशी तस्कर जसपुर जिले के पत्थलगांव से होकर मवेशी की लगातार तस्करी करते रहे हैं जिसकी सूचना पत्थलगांव थाने में मुखबिरोंद्वारा लगातार दी जाती रही है किंतु पत्थलगांव थाने में पदस्थ पुलिस अधिकारियों की इन मवेशी तस्करों से मिलीभगत की कारण इनकी भूमिका काफी संदेहास्पद रही है ऐसे अनेकों मामले पत्थलगांव थाने में आए हैं जहां से होकर मवेशी तस्कर अपने मवेशियों को हांक कर जिले की सीमा से बाहर ले जाते रहे हैं किंतु पत्थलगांव पुलिस द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं करना पुलिस की कार्यप्रणाली पर कहीं ना कहीं प्रश्नचिन्ह खड़ा करता है।
पत्थलगांव थाने में हफ्ते भर पूर्व पदस्थ हुए मोहसीन खान ने तत्काल ही मवेशी तस्करी की सूचना पर मवेशी तस्करों पर अपना शिकंजा कसते हुए मौके से दो आरोपियों सहित 100 मवेशियों को रंगे हाथों पकड़ा। वही विगत दिनों थानेदार ने गांजा तस्कर को भी रंगे हाथों पकड़ा था जिसमें आरोपी भागने में सफल हो गए थे किन्तु माल वह गाड़ी पकड़ी गई थी। कुल मिलाकर रायगढ़ जिले के सीमा पर स्थित मवेशी बाजार से तस्करी कर मवेशी तस्कर जशपुर जिले के पत्थलगांव थाना से होकर ही झारखंड की ओर जाते हैं किंतु पत्थलगांव थाने की सीमा से मवेशी बाजार सटा होने के बावजूद मवेशी तस्करों पर पत्थलगांव थाने के अधिकारियों द्वारा कार्यवाही नहीं करना अनेकों संदेशों को जन्म देता है।

error: Content is protected !!