दुर्ग भिलाई की कई लड़कियां भी नशे की दीवानी, हुक्काबारो में लगाती मिली है कश!!

दक्षिणापथ, दुर्ग। भिलाई-दुर्ग जैसे शहर में हुक्का बार संचालित हो रहे हैं और पुलिस छापेमारी में कई दफे लड़कियां भी कश मारते मिली हैं । भारतीय फ़िल्म इंडस्ट्री ड्रग के आरोप में घिरा है। लोग बड़े चावों से उन खबरों को न्यूज चैनलों पर देख भी रहे है। कुछ लोग स्तब्ध भी है कि जिन नायक-नायिकाओ को युवा वर्ग अपना रोल मॉडल मानते हैं, वो असली जिंदगी में क्या होते है।
लेकिन दुर्ग भिलाई जैसे शहर में भी युवा वर्ग का एक तबका भी नशे की चपेट में है। हालांकि माया नगरी की तरह ये हेरोइन, हशीश या कोकीन जैसे महंगे नशों का इस्तेमाल नहीं करते हो, पर हुक्का, गांजा, सिगरेट, शराब, नारफीन, कोडीन फास्फेट युक्त कफ सिरफ आदि का इस्तेमाल यहां नया नही है।
दिलासे की बात यह है कि ट्विनसिटी में लड़कियां खुलकर नशा करते नही दिखती, पर कुछ होटल व बार वाले इन नवजवान युवक युवतियों के लिए सीक्रेट रूम का बंदोबस्त करके रखे है।
सूत्र बताते है कि भिलाई के कतिपय होटल व हुक्का बार संचालक इससे अच्छी कमाई करते है।
बताया गया कि ट्विनसिटी के युवाओं में एक दशक के दौरान ब्राउन शुगर का प्रचलन बढ़ा है। संगति के चलते कुछ संख्या में कॉलेजों में पढ़ने वाली युवतियां भी इसका इस्तेमाल करने लगी है। कोड वर्ड में इसे cut -T कहकर पुकारा जाता है। नशे का यह समान अधिकतर नागपुर से होकर छत्तीसगढ़ पहुंचता है। कई बार ब्राउन सुगर का रैकेट पुलिस के हत्थे चढ़ा है। हाल के दिनों में इस तरह के पुलिसिया मामलों में भले ही कमी आई हो, मगर इसका मतलब यह नही की यह चल नही रहा है। पालको को सावधान रहने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!