पहली बार 42 हजार के पार पहुंचा सेंसेक्स, US-चीन ट्रेड डील से बल्ले-बल्ले

अमेरिका ने बुधवार को चीन के साथ पहले चरण के व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किये. इस खबर के बीच भारत समेत दुनिया भर के शेयर बाजारों में रौनक देखने को मिली है. अगर भारतीय शेयर बाजार की बात करें तो गुरुवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 130 अंक तक मजबूत होकर 42 हजार के मनोवैज्ञानिक स्‍तर को पार कर लिया है. यह अब तक का उच्‍चतम स्‍तर है. वहीं निफ्टी की बात करें तो 30 अंक तक की बढ़त के साथ 12,370 अंक पर कारोबार करता दिखा, जो रिकॉर्ड हाई है.

बता दें कि बुधवार को कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 79.90 अंक लुढ़क कर 41,872.73 अंक पर बंद हुआ तो वहीं निफ्टी में 19 अंक की गिरावट दर्ज की गई और यह 12,343.30 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान सेंसेक्‍स में 250 अंक तक की गिरावट रही जबकि निफ्टी 80 अंक के करीब लुढ़का.

इससे पहले 26 नवंबर 2019 को कारोबार के दौरान सेंसेक्‍स ने 41 हजार अंक के स्‍तर को पार कर लिया था. यानी करीब 50 दिन में सेंसेक्‍स में 1 हजार अंक की तेजी आई है. वहीं 23 मई 2019 को 40 हजार अंक को टच किया था. तब लोकसभा चुनाव के नतीजे जारी हुए थे. इन नतीजों में एक बार फिर मोदी सरकार सत्‍ता में लौटी थी.

अभी क्‍या है तेजी की वजह?

दरअसल, अमेरिका और चीन के बीच 2 साल से जारी ट्रेड वॉर दोनों देशों के बीच समझौते के साथ खत्‍म हो गया है. पहले चरण के समझौते में बौद्धिक संपदा संरक्षा और प्रवर्तन, जबरन टेक ट्रांसफर को खत्म करना, अमेरिकी कृषि के विस्तार, अमेरिकी वित्तीय सेवाओं से अवरोध हटाना, मुद्रा के साथ छेड़छाड़ (जैसे अवमूल्यन आदि) खत्म करना, अमेरिका-चीन व्यापार संबंधों को पुन:संतुलित करना और समस्याओं का प्रभावी समाधान निकालना शामिल है. इस समझौते पर राष्ट्रपति ट्रंप और चीन के उपप्रधानमंत्री लियू हे ने हस्ताक्षर किए. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसे ऐतिहासिक बताया है.

रुपये में भी तेजी

गुरुवार को शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया बढ़त के साथ खुला. सुबह के कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में 3 पैसे की मजबूती रही और यह 70.78 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया. इससे पहले बुधवार को रुपया अपने पिछले बंद भाव के मुकाबले करीब पांच पैसे की तेजी के साथ 70.82 प्रति डॉलर पर बंद हुआ.

43 हजार का आंकड़ा कब?

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा आम बजट 1 फरवरी को पेश होने वाला है. इस बजट में सरकार की ओर से आम लोगों की राहत के कुछ बड़े फैसले लिए जा सकते हैं. ऐसे में इस बात की उम्‍मीद की जा रही है कि सेंसेक्‍स जल्‍द ही 43 हजार अंक के आंकड़े को भी पार कर लेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!