सामान्य व झोला छाप डॉक्टर बने मरीजो के मसीहा

सामान्य व झोला छाप डॉक्टर बने मरीजो के मसीहा


Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86

दक्षिणापथ.  युजवेंद्र चहल ने अपने चौथे ओवर की आखिरी तीन गेंदों पर हैट्रिक लेकर मैच लगभग राजस्थान की झोली में डाल दिया। वरना जिस तरह केकेआर इस रनचेज में थी, लग रहा था कि वह मैच निकाल लेगी। केकेआर और राजस्थान के बीच आखिरी ओवर का रोमांच मुंबई: राजस्थान रॉयल्स ने कोलकाता नाइटराइडर्स को 218 रन का लक्ष्य दिया था। टारगेट बहुत बड़ा था। वहां तक पहुंचने के लिए पहली गेंद से ही अटैक की जरूरत थी। इसी को ध्यान में रखते हुए कोलकाता ने ओपनर फिंच के साथ सुनील नरेन को पारी का आगाज करने के लिए भेजा, लेकिन पहली ही गेंद पर नरेन को रन आउट कर राजस्थान ने उनका प्लान फेसल कर दिया। चहल की आठ गेंद में पलटा मैच फिंच का साथ देने आए कप्तान अय्यर ने फिंच के साथ 53 गेंदों पर 107 रन की साझेदारी कर आखिरकार अपनी रणनीति को सफल बना दिया। फिंच के आउट होने के बाद श्रेयस ने नितीश राणा के साथ महज 18 गेंदों पर 41 जोड़कर कोलकाता को मैच में बनाए रखा। लेकिन, राणा के आउट होते ही मैच पूरी तरह पलट गया। पारी के 13वें और अपने स्पैल के तीसरे ओवर की आखिरी बॉल पर चहल ने राणा को निपटाया। चहल को अपना स्पैल खत्म करने 17वें ओवर में लगाया गया। पहली ही गेंद पर वेंकटेश अय्यर स्टंपिंग हुए। अगली तीन गेंद में एक वाइड समेत सिर्फ दो रन ही बने। ओवर की बची बाकी तीन गेंदों पर चहल ने लगातार तीन विकेट लेकर मैच अपनी 8 गेंदों में पलट दिया।