सावधान! टैटू गुदवाने का शौक पड़ा महंगा, 12 लोग हुए एचआईवी संक्रमित

सावधान! टैटू गुदवाने का शौक पड़ा महंगा, 12 लोग हुए एचआईवी संक्रमित

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

बनारस । यूपी के बनारस में टैटू बनवाने का शौक कुछ लोगों को महंगा पड़ गया है। दरअसल, टैटू बनवाने के बाद 12 लोग एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं। दो महीने में अस्पताल में हुई जांच में 10 लड़के और दो लड़कियां एचआईवी संक्रमित पाई गई हैं। टैटू बनवाने से बड़ी संख्या में एचआईवी संक्रमण की पुष्टि से हड़कंप मच गया है।
जानकारी के अनुसार, संक्रमित पाए गए सभी मरीजों की जांच पिछले दो महीनों में पंडित दीन दयाल जिला अस्पताल में कराई गई थी। अब 12 लोग एचआईवी संक्रमित पाए गए हैं। अस्पताल की डॉक्टर के अनुसार, सभी में संक्रमण की वजह टैटू बनवाने के लिए संक्रमित निडल का इस्तेमाल करना है। यह जानकारी एंटी रेट्रो वायरल ट्रीटमेंट सेंटर की डॉक्टर की तरफ से दी गई है।
डॉक्टर के अनुसार, संक्रमित पाए गए सभी लोगों ने हाल ही में टैटू बनवाए थे। जिसके बाद इस सभी लोगों को लगातार बुखार आने के साथ ही कमजोरी हो रही थी। धीरे-धीरे उनका वजन भी कम हो रहा था। जब सभी ने जांच करवाई तो उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। जांच में ये भी पता चला है कि इन सभी संक्रमित लोगों ने किसी फेरीवाले या फिर मेले में टैटू गुदवाया था। डॉक्टर का कहना है कि निडल संक्रमित होने की वजह से सभी एचआईवी संक्रमित हुए हैं।