ग्राम खलबोरा में आजीविका गतिविधि से जुड़ रहा है हर परिवार

ग्राम खलबोरा में आजीविका गतिविधि से जुड़ रहा है हर परिवार


Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86

-जिला अधिकारियों को लेकर ग्रामीणों से मिलने पहुंचे कलेक्टर - भीम सिंह  
-गांव में बढ़ी पशुपालन व कृषि गतिविधियां, महिलाएं सीख रही सिलाई, कम्प्यूटर चलाने जैसे हुनर
दक्षिणापथ, रायगढ़ (सरोज श्रीवास)। कलेक्टर भीम सिंह के निर्देशन में धरमजयगढ़ विकासखण्ड के आदिवासी बाहुल्य ग्राम खलबोरा में गरीबी मुक्त गांव की संकल्पना के साथ कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत गांव के प्रत्येक परिवारों को शासन की आजीविका संवर्धन योजनाओं से जोड़कर लाभान्वित करने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे ग्रामीणों की कृषि के साथ अन्य गतिविधियों के माध्यम से अतिरिक्त आय में वृद्धि हो सके। इसी सिलसिले में कलेक्टर श्री सिंह जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ खलबोरा पहुंचे तथा वहां चल रहे विभागीय कार्यों की समीक्षा की तथा योजनाओं से लाभान्वित ग्रामीणों से चर्चा की। कलेक्टर श्री सिंह ने अधिकारियों से कहा कि जिन गतिविधियों से ग्रामीणों को अधिक फायदा हो रहा है, उन पर फोकस किया जाये। इस दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने विभागीय योजनाओं से लाभान्वितों को मिल रहे लाभ की जानकारी ली। कलेक्टर श्री सिंह ने विभागीय अधिकारियों को योजना के बेहतर क्रियान्वयन करने एवं आय संवर्धन की दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए। जिससे ग्रामीणों को बेहतर लाभ हो सके।
कलेक्टर श्री सिंह ने गांव में विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन पर विभागीय कार्यों की विभागवार समीक्षा की। पशुपालन विभाग के अधिकारी द्वारा बताया गया कि विभागीय योजनाओं के माध्यम से 79 हितग्राहियों को बकरी एवं 80 बकरी शेड, 29 हितग्राहियों को मुर्गी व 07 हितग्राहियों को गाय व एक हितग्राही को शूकर प्रदान किया गया है। जिसमें वर्तमान में बेहतर लाभ देखते हुए ग्रामीणों द्वारा गाय पालन के लिए 17 हितग्राहियों एवं 18 हितग्राहियों के द्वारा बकरी के लिए मांग पत्र दिए है, जिसे हितग्राहियों को जल्द प्रदान किया जाएगा। कलेक्टर श्री सिह ने पशुपालन विभाग को चाप कटर प्रदान करने के निर्देश दिए।
 इसी क्रम में मछली पालन विभाग द्वारा बताया गया कि 6 हितग्राहियों को मछली बीज प्रदाय किया गया था। जिससे ग्रामीणों को अच्छा लाभ मिला है, जिसके कारण अन्य लोगों ने भी आवेदन किया है। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि ग्रामीणों को अच्छी ब्रीड की मछली बीज प्रदान की जाए। उन्होंने विभागीय अधिकारी को डबरी निर्माण के कार्य करवाने के निर्देश दिए। उद्यान विभाग के अधिकारी द्वारा बताया गया कि 40 लोगों को मिनी कीट प्रदाय किया गया था। जिस पर कलेक्टर श्री सिंह ने गहरी नाराजगी जताते हुए हितग्राहियों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने विभागीय अधिकारी को ड्रीप सिंचाई सिस्टम लगवाने के लाभ एवं ग्रामीणों को फसल विविधिकरण की जानकारी देने के निर्देश दिए। किसानों की सिंचाई सुविधा के बोर खनन करने के निर्देश दिए। रेशम विभाग के अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में 6 लोग रेशम पालन का कार्य कर रहे है, इसके साथ 15 लोगों का रेशम पालन, प्लांटेशन प्रशिक्षण के लिए चयन किया गया है। कृषि विभाग द्वारा बताया कि सामुदायिक बोर खनन, केसीसी निर्माण किया गया है।

कलेक्टर श्री सिंह ने केसीसी के माध्यम से ग्रामीणों को खाद, बीज दिलवाने के निर्देश दिए। कृषि विभाग द्वारा बताया कि सौर सुजला योजना से पांच ग्रामीणों को लाभान्वित किया गया है। कलेक्टर श्री सिंह ने हितग्राहियों से बात की, हितग्राही ने बताया कि इस योजना से सिंचित भूमि का विस्तार हुआ है और वे एक फसल के जगह दो फसल ले पा रहे है। इसी प्रकार विभिन्न स्किल व ट्रेड ट्रेनिंग अन्तर्गत महिलाओं को प्रशिक्षण प्रदान कर 38 महिलाओं को सिलाई मशीन प्रदान किया गया है। इसी तरह समूह को टे्रनिंग देकर कम्प्यूटर सेट प्रदान किया गया है। वन विभाग द्वारा 25 महिलाओं को सबई घास की रस्सी व टोकरी निर्माण प्रशिक्षण एवं मशीन प्रदान किया गया है। इसी प्रकार माहुल पत्ता का दोना, पत्तल बनाने की प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। कलेक्टर श्री सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को स्वास्थ्य योजनाओं के तहत ग्रामवासियों के हेल्थ कार्ड बनाने के निर्देश दिए। साथ ही ग्रामीणों के राशन कार्ड व पेंशन से जुड़े प्रकरणों के जल्द निराकरण के निर्देश दिए।
इस दौरान एसडीएम धरमजयगढ़ मनीष मिश्रा, उप संचालक पशुपालन डॉ.आर.एच.पाण्डेय, उप संचालक कृषि श्री हरीश राठौर सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।
खलबोरा में बांटे गये वन अधिकार पत्र
कलेक्टर श्री सिंह ने खलबोरा में वन अधिकार पत्र वितरण की जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने 39 लोगों को वनअधिकार पत्र वितरित किए। इसके पूर्व 37 व्यक्तियों को वनअधिकार पत्र वितरित किया जा चुका है। वन विभाग द्वारा वनअधिकार पट्टे वितरण में अपेक्षित प्रगति नहीं होने पर नाराजगी जताई। वनअधिकार के लंबित आवेदनों पर शीघ्र वन अधिकार पत्र बनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने पट्टा प्राप्त हितग्राहियों को मनरेगा अन्तर्गत भूमि समतलीकरण के लिए आवेदन करने को कहा एवं गाय व बकरी तथा शूकर शेड, डबरी, कुआं निर्माण शीघ्र करने के निर्देश दिए।
आमगांव  के वनअधिकार पत्र हितग्राहियों से की चर्चा
कलेक्टर श्री  सिंह  द्वारा आमगांव के मंगतुराम, प्रभुदयाल, परमात्मा व अन्य वनअधिकार पत्र हितग्राहियों से चर्चा की। हितग्राहियों ने बताया कि जमीन का पट्टा मिलने से अब उसमें खेती कर फसल ले रहे है। इस दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने उनसे सिंचाई के संबध में जानकारी ली। हितग्राहियों ने बताया कि सिंचाई के साधन उपलब्ध है। जल स्तर बढ़ाने के लिए नाले में चेक डेम व फसल कटाई के लिए मशीन की मांग ग्रामीणों ने की। कलेक्टर श्री सिंह ने विभागीय अधिकारी को मशीन खरीदी व चेक डेम बनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने ड्रीप के कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। हितग्राहियों ने कलेक्टर श्री सिंह को बताया कि समतलीकरण के बाद धान के फसल के लेने के बाद उन्होंने मंूगफ ल्ली का फसल भी लिया था।