गुजरात में आम आदमी पार्टी का दूसरे नंबर की पार्टी बनकर उभरना है : संजय सिंह

गुजरात में आम आदमी पार्टी का दूसरे नंबर की पार्टी बनकर उभरना है : संजय सिंह

नई दिल्ली । आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि भाजपा की गुजरात पुलिस ने "आप" के अहमदाबाद ऑफिस पर कल रेड करने के बाद इससे इन्कार कर दिया था, लेकिन आज फिर छापा पड़ा है। गुजरात में आप कार्यालय पर छापेमारी का एकमात्र कारण ताजा सर्वे में आम आदमी पार्टी का दूसरे नंबर की पार्टी बनकर उभरना है। आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता गुजरात में तेजी से बढ़ रही है। उस हिसाब से बहुत जल्द नंबर एक पार्टी बन जाएगी। सीएम केजरीवाल की लोकप्रियता से घबराकर भाजपा फर्जी आरोप लगाकर आप का उत्पीड़न कर रही है। गुजरात की जनता चुनाव में इसका सूद समेत हिसाब लेगी।  संजय सिंह ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से आम आदमी पार्टी पर लगातार एक के बाद एक हमले किए जा रहे हैं। दिल्ली में कभी स्वास्थ्य मंत्री को जेल में डाल दिया जाता है तो कभी उपमुख्यमंत्री पर सीबीआई का छापा मारा जाता है। मुख्यमंत्री व परिवहन मंत्री के खिलाफ जांच की जाती है। अब भाजपा की बौखलाहट इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि गुजरात में भी आप के दफ्तर पर छापा मारा जा रहा है। अहमदाबाद ऑफिस पर यह छापा बिना वारंट और कानूनी कागजात के मारा गया। गुजरात पुलिस के अधिकारी घंटों तक कार्यालय में तलाशी लेते रहे। हमेशा की तरह बाद में कह दिया कि कुछ नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि छापेमारी का एकमात्र कारण पिछले दिनों गुजरात में आई सर्वे रिपोर्ट है। इसमें निकल कर आ रहा है कि आप गुजरात में दूसरे नंबर की पार्टी बन गई है। राज्य में अब भाजपा के बाद सबसे ज्यादा लोकप्रिय आम आदमी पार्टी और उसके नेता अरविंद केजरीवाल हैं। जितनी तेजी से गुजरात में आप की लोकप्रियता बढ़ रही है, उस हिसाब से पार्टी वहां बहुत जल्द नंबर एक की पार्टी बन जाएगी। भाजपा को डर इस बात का है कि मुफ़्त बिजली के लिए आप का गारंटी कार्ड भरने के लिए वहां लोगों का तांता लग रहा है। संजय सिंह ने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी से कहना चाहता हूं कि लोकतंत्र में चुनाव में आमना-सामना करिए और जो भी फैसला हो उसे स्वीकार कीजिए।  किसी पार्टी के कार्यालय पर छापेमारी कर, लोकतंत्र का गला दबाकर क्या हासिल हो जाएगा? यह किस प्रकार की राजनीति करना चाहते हैं। गुजरात के अंदर कार्यालय में सभी फाइलों को जांच कर ली गई, लेकिन कुछ भी नहीं मिला। जब हमने सवाल पूछा कि दफ्तर पर क्यों आए हैं तो कहा कि अभी जा रहे हैं लेकिन फिर आएंगे। ऐसे में बचकर रहना नहीं तो बड़ी कार्रवाई की जाएगी। उसके बाद सुबह मना कर दिया कि हम रेड मारने नहीं गए थे। गुजरात की पुलिस के साथ-साथ प्रशासन और सरकार ने भी कहा कि कोई रेड नहीं की है। लेकिन आज फिर छापेमारी शुरू कर दी है। गुजरात में अभी भी अहमदाबाद स्थित कार्यालय पर गुजरात पुलिस की छापेमारी चल रही है। भाजपा को गुजरात की जनता चुनाव में जवाब देगी। सीएम अरविंद केजरीवाल और आप की लोकप्रियता से घबराकर जो फर्जी और निराधार आरोप लगाए जा रहे हैं, उसे गुजरात की जनता देख रही है।