बिजली दर में वृद्धि व कटौती, कांग्रेसियों ने लालटेन लेकर किया प्रदर्शन

बिजली दर में वृद्धि व कटौती, कांग्रेसियों ने लालटेन लेकर किया प्रदर्शन
RO No.12822/158

RO No.12822/158

RO No.12822/158

-भाजपा सरकार की गलत नीतियों से जनता परेशान-कांग्रेस
दुर्ग। प्रदेश में बिजली की दरों में वृद्धि और अघोषित बिजली कटौती के खिलाफ कांग्रेस मुखर हो गई है। इसके विरोध में दुर्ग जिला शहर कांग्रेस कमेटी के बैनरतले सोमवार को आदित्य नगर चौक में धरना-प्रदर्शन कर राज्य की भाजपा सरकार के गलत नीतियों के खिलाफ जमकर आवाज उठाई गई। धरना-प्रदर्शन में लालटेन आकर्षण का केन्द्र रहा। लालटेन के माध्यम से कांगे्रेसियों ने राज्य सरकार को आईना दिखाने का काम किया। धरना-प्रदर्शन उपरांत कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने कलेक्टर के नाम जवाहर नगर विद्युत विभाग के जेई को ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगो से अवगत कराया और मांगे जल्द पूर्ण करने कहा गया।  धरना-प्रदर्शन में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेन्द्र साहू ने बिजली की दरों में वृद्धि और अघोषित बिजली कटौती पर आक्रोश जताते हुए कहा कि भाजपा सरकार पूरे समय बिजली नही दे पा रही है,ऊपर से सरकार ने विजली के दामों में 8 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी कर दी है। यह जनता के साथ बड़ा अत्याचार है।  बिजली दर में 8 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोत्तरी को राज्य सस्कार को वापस लेना चाहिए। प्रदेश की जनता महंगाई से पीडित है। इस दशा में बिजली के दर में बढ़ोतरी करना महंगाई से जख्मी जनता के जख्मों पर नमक छिडकने जैसा है। राज्य सस्कार भले ही कहती है कि बिजली के दाम में 8 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, हकीकत में पिछले दो माह से बिजली के बिल दोगुने आ रहे है। आम आदमी बिजली के दाम बढऩे से परेशान है।

पूर्व विधायक अरुण वोरा धरना-प्रदर्शन में राज्य की भाजपा सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ जमकर बरसे। उन्होने कहा कि कांग्रेस की सरकार ने 5 वर्षों तक विपरीत परिस्थियों में भी बिजली उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए बिजली बिल हाफ योजना शुरू की थी, जिसका लाभ प्रदेश के 44 लाख घरेलू उपभोक्ताओ को मिलता था। जिससे 5 साल में प्रत्येक उपभोक्ता को 40 से 50 हजार रूपयों की बचत हुई थी। पिछले 6 माह में विधुत सरप्लस वाला छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत कटौती का केन्द्र बन गया है। कोई ऐसा दिन नहीं होता जब विजली दो-चार घंटे के लिए बंद न हो, रात में तो बिजली की स्थिति और भयावह हो जाती है, घंटो बिजली बंद हो जाती है। भाजपा से न सरकार संभल पा रही है और न ही व्यवस्थाएं। श्री वोरा ने कहा कि बिजली कटौती और लो वोल्टेज की समस्या से शहर और गांव की जनता जूझ रही है। कांग्रेस सरकार में रवि फसल लगाने वाले किसानों को भी बोरवेल चलाने के लिए बिजली नि:शुल्क मिलता था। कांग्रेस की सरकार के दौरान बिजली आपूर्ति निर्वाध्य गति से चले इसके लिए ट्रांसफामर के पावर बढाए गए थे, नए ट्रांसमिशनो को अपग्रेड किया गया। भाजपा की सस्कार में 6 माह में ही बिजली की व्यवस्था चरमरा गई है। इसके अलावा धरना को कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी संबोधित कर जनता की परेशानी के लिए भाजपा सरकार को जमकर कोसा।
प्रदर्शन में शहर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष गया पटेल,पूर्व महापौर आरएन वर्मा,मध्य ब्लॉक अध्यक्ष अल्ताफ अहमद,दक्षिण ब्लॉक अध्यक्ष अजय मिश्रा,महीप सिंह भुवाल,पूर्व एल्डरमैन राजेश शर्मा,संदीप वोरा, परमजीत सिंह भुई,राजकुमार वर्मा,संजू धनकर, पार्षद निर्मला साहू ,सत्यवती वर्मा ,अमित देवांगन, पूर्व सभापति राजकुमार नारायणी, रत्ना नारामदेव,निखिल खिचारिया, आंनद कपूर ताम्रकार, बृजमोहन तिवारी, लिखन साहू,विनोद सेन,अजय गोलू गुप्ता, अनीस रज़ा ,हरि साहू ,राकेश साहू ,सन्नी साहू ,विनिष साहू ,केशव सिन्हा के अलावा बड़ी संख्या में कांग्रेसजन जुटे।