भारी बरसात का कहर, घर और दीवार ढहने से 4 सगे भाई-बहनों समेत 6 की मौत

भारी बरसात का कहर, घर और दीवार ढहने से 4 सगे भाई-बहनों समेत 6 की मौत

इटावा । उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में पिछले 24 घंटे से हो रही भारी बारिश के बीच बीती देर रात घर और दीवार ढहने की दो घटनाओं में 04 सगे भाई बहनों एवं एक दंपति की दर्दनाक मौत हो गई। इटावा के जिलाधिकारी अवनीश राय ने गुरुवार को सुबह इन दो घटनाओं में 06 लोगों के मरने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि इटावा के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के अंतर्गत चंद्रपुरा गांव में बीती रात करीब 01 बजे के एक कच्चे मकान की दीवार ढहने से घर का एक हिस्सा गिर गया। इसमें एक ही परिवार के 06 लोग मलबे में दब गये।

जब तक गांव वाले उन्हें निकालने की कोशिश करते तब तक 4 मासूम सगे भाई-बहनों की दर्दनाक मौत हो गयी। बच्चों की दादी और एक अन्य मासूम गंभीर रूप से घायल हो गये। दोनों को उपचार के लिए जिला मुख्यालय के डा भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है। डॉक्टरों की टीम दोनों घायलों के उपचार में जुटी हुई है।मृतकों में शिंकू (10 साल),अभि (8 साल), सोनू (7 साल) और आरती (5 साल) शामिल है। इस हादसे में मृतक बच्चों की 75 साल की श्रीमती शारदा देवी और 4 साल का ऋषभ गंभीर रूप से घायल हो गये। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक चारों भाई बहनों के माता-पिता की 2 – 3 साल पहले क्षय रोग से मौत हो चुकी है। बच्चों के पिता अवनीश और मां पूजा की मौत के बाद पूरा घर बार बेसहारा हो गया था।

दूसरी घटना इटावा के इकदिल थाना क्षेत्र के अंतर्गत कृपालपुरा गांव के पास हुयी, जहां भाटिया पेट्रोल पंप की दीवार ढहने से एक दंपत्ति की दर्दनाक मौत हो गयी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक रामसनेही (65 साल) और उनकी पत्नी रेशमा (63 साल), भाटिया पेट्रोल पंप की दीवाल के किनारे सो रहे थे। तभी देर रात दीवार गिरने के बाद दोनों मलबे में दब गये। जब तक उनको निकाला जाता तब तक दोनों की मौत हो गयी। दोनों को स्थानीय थाना पुलिस मुख्यालय के डा भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय ले जाया गया। जहां तैनात डॉ सौरभ गुप्ता ने दंपत्ति को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।